सरकार अलर्ट पर कोरोना की दस्तक, चुनाव सांसत में


भोपाल। कोरोना वायरस के ओमिक्रॉन वेरिएंट के केस तेजी से बढ़ते देख केंद्र और राज्य सरकारें अलर्ट पर आ गई हैं और प्रसार पर काबू पाने के लिए जरूरी कदम उठा रही हैं। मध्य प्रदेश में भी शिवराज सिंह चौहान सरकारने कोरोना वायरस की तीसरी लहर के खतरे को देखते हुए प्रदेश में सख्त पाबंदियां लागू कर दी हैं। इस बीच ऐसा कहा जा रहा है कि मध्य प्रदेश में पंचायत चुनाव को टालने पर भी सरकार विचार कर रही है। वहीं गृहमंत्री ने भी इसके संकेत दिए है।
जाहिर है कि ओबीसी आरक्षण को लेकर पहले ही पंचायत चुनाव में पेंच फंसा हुआ है और अब कोरोना के बढऩे की वजह से पंचायत चुनाव के टलने के आसार नजर आने लगे हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहानआज सभी संभागों को कमिश्नर, जिलों के कलेक्टर और एसपी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोविड की स्थिति की समीक्षा करेंगे।
क्या कहा गृहमंत्री ने
इससे पहले मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने भी चुनाव टलने के संकेत दिए हैं। दरअसल, उन्होंने कहा कि चुनाव किसी की जिंदगी से बड़ा नहीं है। लोगों की जान हमारे लिए पहली प्राथमिकता है। कोरोनाकाल में अन्य प्रदेश में हुए पंचायत चुनाव से लोगों की सेहत पर खासा प्रभाव पड़ा था। इसलिए मेरी व्यक्तिगत राय है कि कोरोना के बढ़ते हुए खतरे को देखते हुए पंचायत चुनाव को टाल दिया जाना चाहिए।