16 साल के संघर्ष के बाद अब मिड इंडिया अंडर ब्रिज

मंदसौर । वर्ष 2006 से 2022 तक 16 साल के लंबे संघर्ष के बाद अब मिड इंडिया अंडर ब्रिज का निर्माण कार्य पूर्ण जनता को समर्पित हो गया है। मुझे यह सौभाग्य प्राप्त हुआ कि जनता के इस संघर्ष में 16 वर्ष तक लगातार मैंने जनप्रतिनिधि के रूप में 16 क्षेत्र की जनता का प्रतिनिधित्व किया और क्षेत्र की इस समस्या को निरन्तर संघर्ष के साथ केंद्रीय मंत्रियो, क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियो, रेलवे अधिकारियों, नगरपालिका अधिकारियों के साथ निरंतर समन्वय बिठाकर कार्ययोजना को मूर्तरूप देने में निर्णायक भूमिका निभाई । लगभग 7 pकरोड़ की लागत से इस ब्रिज का निर्माण हुआ है। सांसद सुधीर गुप्ता ने केंद्र सरकार से 3.50 करोड रुपये ओर विधायक यशपालसिंह सिसोदिया ने राज्य सरकार से 3.50 करोड़ रुपये की राशि ब्रिज निर्माण में सतत प्रयास करके दिलाई। यह बात क्षेत्रीय पार्षद विजय गुर्जर ने कहते हुवे बताया कि पटरी पार के 30 हजार रहवासियों का जीवन बार-बार फाटक बंद होने के कारण प्रभावित हो रहा था, जो रहवासियों के लिए परेशानियों का सबब बन गया था। कई बार शवयात्रा अपने कंधे पर लेकर फाटक बंद होने पर फाटक खुलने के इंतजार में खड़ा रहना पड़ता था। साथ ही फाटक बंद होने पर आवश्यक इलाज नही मिलने पर मृत्यु होने जैसी गम्भीर घटना भी हो गई। इस तरह की अनेक समस्याओं का समाधान अंडर ब्रिज के कार्य के पूर्ण होने के रूप में हो गया है।

श्री विजय गुर्जर ने बताया कि ब्रिज निर्माण में भारतीय जनता पार्टी के जनप्रतिनिधि केंद्रीय मंत्री श्रीमंत महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक यशपालसिंह सिसोदिया, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष स्वर्गीय प्रहलाद बंधवार, अभिनंदन क्षेत्र की पार्षद लिखिता आशीष गौड़, पूर्व पार्षद रानी गुर्जर, मन्दसौर का जागरूक इलेक्ट्रॉनिक व प्रिंट मीडिया, रेलवे के अधिकारियों एवम नगर पालिका के अधिकारियों की टीम का इस ब्रिज निर्माण में पूर्ण योगदान व सहयोग रहा। अंत में क्षेत्रीय पार्षद गुर्जर ने मिड इंडिया अंडर ब्रिज जनता को समर्पित करने में महत्वपूर्ण योगदान निभाने वाले सभी लोगों का अभिनंदन क्षेत्र की जनता की ओर से धन्यवाद और आभार माना है। साथ ही अभिनंदन क्षेत्र की जनता को इस बड़ी सौगात मिलने पर बधाई दी है।