हरे वृक्ष काटने की शिकायत पर पहुंचे तहसीलदार, बनाया पंचनामा(latest news in hindi danik patallok mandsaur)

मैनपुरिया आश्रम में हरे वृक्ष काटने की शिकायत पर पहुंचे तहसीलदार, बनाया पंचनामा
 मंदसौर।  
मैनपुरिया आश्रम में हरे वृक्ष काटे जाने की शिकायत के बाद तहसीलदार मुकेश सोनी मौके पर पहुंचे और पंचनामा बनाया और हरे वृक्ष नहीं काटे जाने की सलाह आश्रम प्रबंधक को दी गई।
हरे वृक्ष कांटे जाने को लेकर ग्राम मेनपुरिया के ग्रामीणों ने विरोध जताया था, उनका कहना था कि आज के युग में पूरी दुनिया की मानव जाति पर्यावरण को बचाने में जुटी है वृक्षारोपण पर बड़े-बड़े सेमिनार आयोजित किए जा रहे हैं, वृक्षारोपण को मानव जाति से जोड़ा जा रहा है वृक्षारोपण करके पर्यावरण को बचाने का संदेश दिए जा रहे हैं वहीं दूसरी ओर  मैनपुरीया आश्रम मे सैकड़ों हरे वृक्षों को बिना किसी की अनुमति से धड़ल्ले से काट दिए  गये । पर्यावरण को भारी नुकसान पहुंचाने का षड़यंत्र रचा जा रहा है शासन-प्रशासन कुंभकरण की नींद सो रहा है गांव में वृक्ष काटे जाने को लेकर के भारी आक्रोश है ग्रामीणों ने बताया कि यह वृक्ष 100 वर्ष पुराने हैं और इनको हमारे बाप दादा  और देव तुल्य संत महात्माओं ने अपने खून पसीने से कुए से रस्सी बाल्टी के माध्यम से सींच कर के बड़े किए हैं। मैनपुरीया चैतन्य आश्रम को वृक्ष विहीन  किया जा रहा है जो कि सरासर गलत है। ग्रामीणों ने बताया कि  वृक्षों में भगवान वासुदेव का वास होता है धर्म के नाम पर लोगों को ज्ञानवर्धक उपदेश देने वाले  स्वामी महेशानंदजी  इस प्रकार के कृत्य को करवाने में सबसे आगे है तथा वृक्ष कटाई का विरोध करने वाले लोगों को डराते धमकाते रहते हैं । ग्रामीणजन उमाशंकर माली, सत्यनारायण माली, धन्नालाल गहलोत, श्रीमती यशोदाबाई, श्रीमती कंचन बाई, हीरालाल मालवीय, महेंद्र सिंह सिसोदिया आदि ग्रामीणजनों ने हरे वृक्ष की कटाई करवाने वाले महेशानंद एवं जो ट्रस्टी इसमें सहभागी है उन पर कानूनी कार्रवाई करने की मांग की है।  यदि समय रहते कार्यवाही नहीं की गई तो ग्रामीण जनो द्वारा  आंदोलन किया जावेगा।