सोयाबिन पर इल्लियों का खतरा (latest news update)

इस बार उत्पादन पर हो सकता है असर

मंदसौर। बारिश की खेंच का असर अब सोयाबीन की फसलों पर नजर आने लगा है। एक पखवाड़े से बारिश नहीं होने से फसल सूखने लगी है और इल्लियां आने लगी हैं। यदि जल्द बारिश नहीं हुई तो उत्पादन पर असर होगा और इस बार उत्पादन कम होगा। जिले में 2.51 लाख हेक्टेयर में सोयाबीन की बोवनी हुई है। अभी तक तो समय-समय पर बारिश होने से सोयाबीन की फसल लहलहा रही थी। लेकिन पिछले एक पखवाड़े से बारिश नहीं हो रही है। इससे सोयाबीन की फसल सूखने लगी है और इल्लियों का प्रकोप शुरू हो गया है। ऐसे किसान जिन्होंने 75 से 80 दिन की वैरायटी वाली सोयाबीन की बुआई की उनकी फसल में दाने आ रहे हैं। लेकिन बारिश की खेंच से दानें छोटे रहने की संभावना है। वहीं जिन्होंने ज्यादा दिनों की वैरायटी वाली सोयाबीन की बोवनी की उनकी फसल को पानी की जरूरत है। जल्द बारिश नहीं हुई तो फसलों पर असर होगा और फसल प्रभावित होगी। इधर रामपुरिया, शिवपुर, लुनेरा, नौगावांजागीर सहित अन्य गांवों में सोयाबीन में इल्लियां नजर आ रही हैं और जमीन सूख रही है और दरारें आ रही हैं।