सांसद गुप्ता के प्रयासों से संसदीय क्षेत्र को मिले 82 टॉवर केन्द्र सरकार ने 26,316 करोड़ रूपये की परियोजना को दी मंजूरी(mp news update sansad sudhir gupta)


सांसद गुप्ता के प्रयासों से संसदीय क्षेत्र को मिले 82 टॉवर
केन्द्र सरकार ने दी 26,316 करोड़ रूपये की परियोजना को मंजूरी

मंदसौर –  मंदसौर संसदीय क्षेत्र के दूरसंचार क्षेत्र  के नेटवर्क से अछूते क्षेत्र में बीएसएनएल के माध्यम से 4जी नेटवर्क की कनेक्टिविटी मिलेगी। इसके लिए केन्द्र सरकार ने देश भर के अछूते गांवों में 4जी मोबाइल सेवाओं की संतृप्ति की परियोजना को मंजूरी दी थी। जिसमें संसदीय क्षेत्र के मंदसौर, नीमच व जावरा भी शामिल है। संसदीय क्षेत्र में परियोजना के तहत 82 टॉवर लगाएं जाएंगे। इससे मंदसौर संसदीय क्षेत्र की जो अधिकतर ग्राम मोबाइल टावर से वंचित रह गए थे या जो ग्राम पंचायते वंचित रह गई थी अब वह 4जी हो जाएगी जिसके तहत पूरा संसदीय क्षेत्र में डिजिटल क्रांति का युग शुरू हो जाएगा और हर गांव को इसका विशेष लाभ प्राप्त होगा।
     प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 15 अगस्त को दिल्ली की लालकिले की प्राचीर से देश में डिजिटल क्रांति की घोषणा की थी। इसी के तहत केन्द्रीय मंत्री अश्विनी वैैष्णव ने 27 जुलाई 2022 को देश भर के अछूते गांवों में 4जी मोबाइल सेवाओं के लिए 26,316 करोड़ रूपये की परियोजना को मंजूरी दी थी। परियोजना को बीएसएनएल द्वारा आत्मनिर्भर भारत के 4 जी प्रौद्योगिकी स्टैक का उपयोग करके निष्पादित किया जाएगा और इसे यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फंड के माध्यम से वित्त पोषित किया जाएगा। इसके तहत मंदसौर संसदीय क्षेत्र के नीमच में 46, मंदसौर में 28 और पिपलौदा में 8 टॉवर स्वीकृत हुए है।
सांसद गुप्ता के प्रयासों से ज्ञात रहे सांसद जी के प्रयासों से अधिकतर ग्राम पंचायतों में फाइबर नेटवर्क का जाल बिछा दिया गया है। बीएसएनएल के द्वारा ग्राम पंचायतों के माध्यम से आम जनता को फाइबर नेटवर्क कनेक्टिविटी से लाभान्वित किया जा रहा हैं। सभी शासकीय कार्यालय जो की ग्राम पंचायतों के क्षेत्र में स्थित है उन्हें फाइबर कनेक्टिविटी से जोड़े जाने का कार्य भी शीघ्र अतिशीघ्र प्रारंभ होगा जिसके द्वारा आम जनता को सरकार की सुविधाओं का लाभ क्षेत्र में मिल सकेगा।
सांसद गुप्ता ने कहा कि यह परियोजना ग्रामीण क्षेत्रों में मोबाइल कनेक्टिविटी प्रदान करने के सरकार के विजन की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। यह परियोजना मोबाइल ब्रॉडबैंड के माध्यम से विभिन्न ई-गवर्नेंस सेवाओं, बैंकिंग सेवाओं, टेली-मेडिसिन, टेली-एजुकेशन आदि के वितरण को बढ़ावा देगी और ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार पैदा करेगी। अब किसान अपने घर बैठे इसका लाभ उठा सकेगा गांव का बेटा इंटरनेट के जरिए अपने गांव के विकास के सपना देख सकेगा। कृषि के नए आयाम जुड़ेंगे व्यापार के लिए नया बाजार मिलेगा और और साक्षरता में नया अध्याय जुड़ेगा।

इन गांवो में लगेंगे टॉवर
मंदसौर जिले में यहां लगेंगे टॉवर – बुलगडी, गुडभेली, धामनिया, आसपुरा, हरिपुरा, गुर्जरखेडी, नयाखेडा, मामादेव, रायखेडा, कल्याणपुर, चाहाखेडी, रामनगर, गांधीग्राम, बरडियाखेडी, सुरावत का डेरा, चंदनखेडा, लोराखेडा, हिंगलाजगढ, नयागांव, गणेशपुरा, भीमपुरा, ठगी, खेडी, नाउ आबादी, नई आबादी,  कुलगडी, गुडभेली, बांकाखेडी ।
नीमच जिले में यहां लगेंगे टॉवर –  मातारूंडी, बलपुरा, पाणमाता, सुंडी, कुणी खम्बा, कालकीपुरा, लखारिया, बोरखेडा, चंदामोती, नई आबादी, गुजरान, गणेशपुरा, जूना भदाना, रावत नगर, हरिपुरा, पिपलदा ब्लॉक, बसई ब्लॉक, नरवाली, भुज, खेडा, पिपलिया रूंडी, दुधीखेडा, हामाखेडी, नई ननोर, शिवपुरीया चक्की वाला, गांधीपुरा, खडवालया,  देवीपुरा, जेतपुरा, ढोकलखेडा, रामपुरिया, कामा, भगवानपुरा जाट, अमरपुरा जाट , नौवलंगी, मलौटा, केलरिया, सरवानिया, बांबरेड का खेडा, चडोल, प्रतापपुरा, खरडी, पिपलदा, अमरपुरा, गोपालपुरा, अमरगढ़