लव जेहाद: धर्मपरिवर्तन के लिए बनाया दबाव पहचान छुपाकर की शादी और मारपीट, केस दर्ज

मंदसौर। नीमच में अपनी वैवाहिक स्थिति छुपाकर शादी करने और फिर धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाने का मामला सामने आया है। मामले में विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों के सहयोग से पीडि़ता ने जिला पुलिस अधीक्षक को अपनी व्यथा सुनाकर शिकायत की। इस पर जिला पुलिस अधीक्षक सूरज कुमार वर्मा के आदेश पर महिला थाने पर प्रकरण दर्ज किया गया।

मामले में पीडि़ता ने बताया कि वो नीमच कैंट क्षेत्र की निवासी है। 2018 में उसकी मुलाकात अशरफ(34) पिता इस्माइल खान से हुई थी और तब से वो उसके संपर्क में थी। अशरफ ने उसे बताया था कि वह तलाक शुदा है उसके बाद 20 जून 2021 को नीमच महावीर नगर स्थित एक घर पर उससे कुछ कागजात पर साइन करवाए गए और जिसके बाद अशरफ ने उसे कहा कि उनका निकाह हो चुका है। इसके बाद से दोनों साथ रहे थे। पीडि़ता ने बताया की उसे इसके दो माह बाद पता लगा कि अशरफ की पत्नी उसी के साथ रह रही है और उसका तलाक नहीं हुआ है। फिर इसके बाद से अशरफ उसे धर्म बदलना के लिए मजबूर करने लगा और मारपीट कर प्रताडि़त करना शुरू कर दिया। पीडि़ता ने बताया कि आरोपी उसके साथ शराब पीकर लगातार मारपीट करता था साथ और कई उसका बार गर्भपात भी कराया।इस पर पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 498, 323, 294, 506 व मध्य प्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता अधिनियम 2021 की धारा 3, 5 के तहत प्रकरण दर्ज कर मामला विवेचना में लिया। इस मामले में पीडि़ता की मदद करने में विश्व हिंदू परिषद के जिला अध्यक्ष सत्यनारायण पाटीदार, जिला मंत्री लक्ष्मण राठौर, मातृशक्ति जिला संयोजिका रेखा वर्मा की महत्वपूर्ण भूमिका रही।