मिड इंडिया ब्रिज को किसकी नजऱ?


मंदसौर। फाटक पार की करीब तीस हजार जनता को मिड इंडिया अंडरब्रिज के पूरा होने का इंतजार है लेकिन कोई ना कोई बाधा ब्रिज का निर्माण पूरा करने में आ हीं रहीं है। अब एप्रोच रोड़ बनाने में पानी बाधा बनकर सामने आ गया। ठेकेदार द्वारा रेल पटरी के नीचे से ब्रिज के लिये की गई खोदाई की जा रहीं है जिसमें जमीन से पानी आने लगा है, पानी भी अधिक मात्रा में आ रहा है। ठेकेदार के कर्मचारियों द्वारा तीन पंपों को लगातार 24 घंटे चलाकर पानी को खाली किया जा रहा है। एप्रोच रोड के निर्माण अभी सीसी निर्माण का कार्य होना है, लेकिन पानी के कारण आ रही बाधा से काम में देरी हो रही है। अब बारिश के कारण काफी दिक्कत यहां होगी। हालांकि निर्माण एजेंसी के मैनेजर का कहना है कि सभी बाधाओं के बावजूद हम काम को जल्द पूरा कर देंगे।
मिड इंडिया अंडरब्रिज निर्माण का काम प्रारंभ से ही कभी भुगतान, कभी कोरोना के कारण बाधित हुआ है। लेकिन अब फिर से काम में आफत आ गई है। एप्रोच रोड के लिये ब्रिज में खोदाई की गई, खोदाई में जमीन से पानी निकल रहा है, इसके कारण काम की गति धीमी हो रही है। जमीन से लगातार निकल रहे पानी को खाली करने के लिये कर्मचारियों द्वारा पटरी के दोनों तीन पंप लगाए गये है, इन पंपों से पानी को लगातार खाली किया जा रहा है। पानी खाली होने के बाद सीसी निर्माण सहित अन्य कार्यो में तेजी आ पाएगी। इसके साथ ही एप्रोच रोड के लिये निर्माण स्थल पर अभी खोदाई का काम भी चल रहा है। अंडरब्रिज निर्माण में बार-बार रूकावट आने के कारण ही 12 माह की निर्धारित समय सीमा में पूर्ण किये जाना वाला अंडरब्रिज का निर्माण कार्य 22 माह बीतने के बाद भी अधूरा है।