मन्दसौर में लापरवाही भी कोरोना भी


मंदसौर। कोरोना की तीसरी लहर में रतलाम और प्रतापगढ में पॉजीटिव मरीज मिलने के बाद मंदसौर में भी कोरोना की आहट हो चुकी है। इसके बाद भी लापरवाही का दौर जारी है। कोरोना से सबसे बड़ा बचाव मास्क ही है। इसके बावजूद लोग मास्क लगाने से परहेज कर रहे है। वहीं शारीरिक दूरी का पालन भी लगभग सभी जगह बंद हो गया है। ऐसे में तीसरी लहर की दस्तक का खतरा भी बढ़ता जा रहा है।
जिले में कोरोना की रोकथाम के लिये एक तरफ वैक्सीनेशन तेजी से किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ लोग कोरोना से बचाव को लेकर ही तैयार नहीं दिख रहे है। शहर में दुकानों पर लोगों की भीड़ लग रही है, लेकिन इस दौरान अधिकांश लोग मास्क का उपयोग नहीं कर रहे है। वहीं शारीरिक दूरी का पालन तो भूल ही गये है। इस तरह की लापरवाही से तीसरी लहर का खतरा बढ़ रहा है। मास्क लगाकर घूम रहे लोगों का कहना है कि दूसरी लहर में हम भयावह स्थिति देख चुके है, अच्छा यही है कि सभी मास्क लगाकर ही घर से बाहर निकलें। मास्क का उपयोग करने वाले लोगों ने प्रशासन से भी अपील की है कि सभी लोग मास्क का उपयोग करें इसके लिये सख्ती दिखाई जाए। कोरोना से बचाव ही उपाय है और सबसे बड़ा बड़ा उपाय मास्क ही है।