भैय्या बहन के त्यौहार पर बाजार में भीड़,मुहूर्त में भी बंधेगी राखियां(latest news in hindi danik patallok mandsaur)

मंदसौर। कल रक्षा बंधन को लेकर बाजार में काफी चहल पहल दिखाई दे रही है। राखियों की दुकानों पर भीड़ देखी जा रही है। अगर शुभ मुहूर्त की बात करें तो पूर्णिमा तिथि आरंभ 11 अगस्त को सुबह 10.38 मिनट से होगा तो समाप्ति 12 अगस्त को सुबह 7.5 मिनट पर होगा। 11 अगस्त को सुबह 9.28 मिनट से रात 9 बजकर 14 मिनट तक रहेगा। अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12.06 से 12.57 बजे तक अमृत काल रहेगा तो शाम 6.55 से रात 8.20 बजे तक तो ब्रह्म मुहूर्तसुबह 4.29 से 5.17 मिनट तक रहेगा। भद्रा निर्णय को देखे तो मुहुत्र्त चिंतामणि के अनुसार जब चंद्रमा कर्क, सिंह, कुंभ या मीन राशि में होता है तब भद्रा का वास पृथ्वी पर होता है। चंद्रमा जब मेष, वृष, मिथुन या वृश्चिक में रहता है तब भद्रा का वास स्वर्गलोक में रहता है। कन्या, तुला, धनु या मकर राशि में चंद्रमा के स्थित होने पर भद्रा पाताल लोक में होती है। भद्रा जिस लोक में रहती है वही प्रभावी रहती है। इस प्रकार जब चंद्रमा कर्क, सिंह, कुंभ या मीन राशि में होगा तभी वह पृथ्वी पर असर करेगी अन्यथा नहीं। जब भद्रा स्वर्ग या पाताल लोक में होगी तब वह शुभ फलदायी कहलाएगी। 11 अगस्त को 11.38 को सुबह पूर्णिमा तिथि लगने के उपरांत ही रक्षाबंधन मनाया जाएगा।

पूरे दिन चंद्रमा मकर राशि में रहेगा

सावन की पूर्णिमा 11 अगस्त को है। ऐसे में रक्षाबंधन पर्व मनाया जाएगा। 11 अगस्त की पूर्णिमा को संपूर्ण दिन चंद्रमा मकर राशि में रहेगा। चंद्रमा के मकर राशि में होने से भद्रा का वास इस दिन पाताल लोक में रहेगा। पाताल लोक में भद्रा के रहने से यह शुभ फलदायी रहेगी।। इसलिए पूरे दिन सभी लोग अपनी सुविधा के अनुसार अच्छे चौघडि़ए और होरा के अनुसार राखी बांधकर त्यौहार मना सकते हैं। इस बार रक्षाबंधन पर्व पर आयुष्मान योग आ रहा है। 10 अगस्त शाम 7.35 बजे से 11 अगस्त को 3.31 बजे तक रहेगा तो रवि योग 11 अगस्त सुबह 5.30 बजे से सुबह 6.53 बजे तक रहेगा। वहीं शोभन योग 11 अगस्त को 3.32 से 12 अगस्त को 11.33 बजे तक रहेगा।