मल्हारगढ़। क्षेत्र में अतिवृष्टि से खेतों में जल भराव की स्थिति से सोयाबीन की फसल नष्ट होने की कगार पर है, और जहा थोड़ी बहुत उम्मीद थी वहां इल्लियां पत्ते चौपट कर फसल को नुकसान पहुचा रही है।वही प्याज की फसल पर भी जलेबी रोग आने से यह फसल भी बर्बाद होगई है जमीन में बड़े बड़े सफेद कीड़े(गिंडोले)इस फसल को बढ़ने नही दे रहे है।
गुरुवार को मल्हारगढ़ ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने ग्रामीण क्षेत्र में खेतो में पहुंचकर किसानों से चर्चा की। किसान राकेश साहू ने बताया कि मैने एक बीघा में प्याज की फसल बोई थी जिसमे लगभग 30 हजार का खर्चा आया, महंगी कीटनाशक का छिड़काव भी किया किन्तु कोई फायदा नही हुवा लागत मूल्य तो दूर की बात मेहनत भी नही निकल रही है खेती किसानी अब घाटे की साबित होने लगी है। इसी तरह किसान जमनालाल राठौर ने बताया कि किसानों को उपज के वाजिब दाम नही मिल रहे है लहसुन ओने पोने दामो में बिक रही है किसान भाव नही मिलने के कारण लहसुन को फेक रहा है तो कृषिउपज मंडी में बगेर बेचे ही लहसुन के ढेर छोडकर जारहा है। सोयाबीन की फसल पर हजारों रुपये कीटनाशक के छिड़काव के बाद इल्लियों का प्रकोप जो का त्यों है। कहि कहि पिला मोजेक भी फसले बर्बाद कर रहा है।
ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अनिल शर्मा ने प्रशासन से मांग की है कि पहले से परेशान किसान इस समय काफी संकट में है राजस्व विभाग तत्काल बगेर भेदभाव के सर्वे करवाकर पर्याप्त मुआवजा दे। साथ ही लहसुन व प्याज को भावन्तर में शामिल करें।
इस मौके पर ब्लॉक कांग्रेस महामन्त्री अनिल मुलासिया,कांग्रेस नेता भुवानीराम पाटीदार,रामप्रसाद फरक्या आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.