पाले से फसलों को नुकसान, राजमार्ग पर कोहरा


मंदसौर। कड़ाके की सर्दी का असर फसलों पर पड़ रहा है। इससे फसलों को नुकसान हो रहा है। रविवार शाम से ही घना कोहरा नजर आने लगा। सडक़ों पर वाहनो के सामने धुंध बदलों की तरह उड़ती हुई दिखाई दे रही थी। इसी के चलते सोमवार सुबह से ही घना कोहरा छाया रहा। विजिबलिटी 50 मीटर से भी कम रह गई। रविवार को आए बादल सोमवार को भी छाए रहे। सर्दी का सितम कुछ ऐसा है कि सुबह दोपहर और शाम में फर्क नजर नहीं आ रहा।
शीत लहर के चलते फसलों में भी नुकसान की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार सोमवार के बाद ठंड से राहत मिल सकती है। रविवार को जहां तापमान 5 डिग्री तक पहुंच गया था। वही सोमवार को तापमान में 1 डिग्री का बदलाव हुआ। सोमवार को न्यूनतम तापमान 6 डिग्री रहा। वहीं अधिकतम तापमान सुबह 10 बजे तक 14 डिग्री दर्ज किया गया। हालाकिं, जिले में बारिश के आसार नहीं हैं। लेकिन ठंड के तेवर सोमवार को भी ऐसे ही रहे। दोपहर में हल्की धूप जरुर निकली, लेकिन ठंडी हवाओं का दैर जारी रहा।
अफीम सहित अन्य फसलें प्रभावित
कड़ाके की ठंड व शीतलहर के कारण फसलों की सेहत पर बुरा प्रभाव प? रहा है। धनिया, अफीम, चना, सरसों, मसूर सहित सब्जियों की फसलें तेजी से प्रभावित हो रही हैं। रात में तापमान में लगातार कमी बनी हुई है इसके चलते ओस की बूंदें फसलों पर बर्फ की चादर के रूप में जम रही है। शीतलहर से फसलें झुक गई। गेहूं की बालियों पर ओस की बूंदें देर सुबह तक जमी रही, धनिया की फसल ठंड से झुलस गई है। कृषि वैज्ञानिकों का कहना है कि मौसम फसलों के लिये अनुकूल नहीं है, उत्तर दिशा से शीतलहर लगातार बनी हुई है, अभी करीब एक सप्ताह तक ठंड का इसी तरह असर बना रहने का अनुमान है।