ज्योतिषी भिड़े नए साल की गणना में


मंदसौर। साल 2022 का पहला दिन पौष कृष्ण चतुर्दशी तिथि से शुरू होगा। कन्या लग्न, ज्येष्ठा नक्षत्र त्रिकोण में शनिवार के दिन से साल की शुरुआत हो रही है। पंडितों व ज्योतिषियों के अनुसार चंद्रमा वृश्चिक राशि में पहले दिन रहेगा। साथ ही सूर्य, धनु और बुध मकर राशि में भ्रमण करेंगे। मंगल और शनि अपनी स्व राशियों क्रमश: वृश्चिक और मकर में पहले से मौजूद रहेंगे। गुरु का भ्रमण शनि की राशि कुंभ में जारी रहेगा। साथ ही राहू अभी वृषभ और केतु वृश्चिक राशि में गोचर करते रहेंगे।
हालांकि शुक्र का भ्रमण गुरु की राशि धनु में होगा। इस संवत का राजा और मंत्री मंगल है। वृश्चिक राशि मंगल का प्रतिनिधित्व करती है। इससे कृषि, भूमि के क्षेत्र में लाभ होगा। राजनीति से जुड़े मामलों में फेरबदल के योग बनेंगे। मंगल अग्नि कारक और दुर्घटना कारक भी है। ऐसे में लोगों को सावधान भी रहना चाहिए। कन्या बौद्धिक है।