जय कन्हैयालाल की

वीएचपी और ग्वाला समाज के चल समारोह से दशपुर हुवा कान्हामय

मंदसौर। आज कृष्ण जन्माष्टमी पर शहर कृष्णमय हो गया। दो साल कोरोना के प्रतिबंधों के बाद इस साल जन्माष्टमी पर्व पर भक्तों में खासा उत्साह देखा गया। जिलेभर में धार्मिक आयोजन हुए। मंदसौर में विश्व हिन्दू परिषद एवं ग्वाला समाज द्वारा चल समारोह निकाला गया।  जिला जेल भी जन्माष्टमी पर्व पर विद्युत साज-सज्जा से जगमगाया। शाम को यहां झांकी सजेगी। खाटू श्याम मंदिर आज भक्तों के लिये दिनभर खुला रहा। दिल्ली के फूलों से श्याम बाबा का श्रृंगार होगा। इसके साथ ही मंदिरों पर विशेष आयोजन भी हुए। होंगे। जीवागंज स्थित गोर्वधननाथ मंदिर में विशेष दर्शन हुए।

चल समारोह रहा आकर्षण का केंद्र

 प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी पर्व एवं विश्व हिन्दू परिषद के स्थापना दिवस पर निकला चल समारोह आकर्षण का केंद्र रहा। केशव सत्संग भवन खानपुरा से सुबह चल समारोह निकला।  समारोह केशव सत्संग भवन से प्रारंभ होकर प्रतापगढ पुलिया, मण्डी गेट, सदर बाजार, धानमण्डी, बडा चौक, गणपति चौक, वरूणदेव मंदिर, शुक्ला चौक, घण्टाघर, कालिदास मार्ग, भारत माता चौराहा, बस स्टेण्ड होते हुए गांधी चौराहा स्थित विश्वपति शिवालय पर समाप्त हुआ। जहां पर धर्मसभा आयोजित हुई। चल समारोह में की अगवानी घुड सवार कर रहे थे।  साथ ही बग्गी में भगवान की तस्वीर एवं संतगण में विराजित होकर भक्तों को आशीर्वाद दे रहे थे। मातृशक्ति सिर पर कलश धारण कर चल समारोह की शोभा बढा रही थी। वहीं अखाडों के पहलवान अपने करतब दिखा रहे थे। साथ ही राधाकृष्ण की झांकियां व भोलेनाथ की बारात भक्तों ने भक्तों का मनमोह लिया। डीजे, ढोल पर युवा चल समारोह में नृत्य करते हुए शामिल हुए।

दिल्ली के फूलों से होगा बाबा श्याम का श्रृंगार

जन्माष्टमी पर्व के अवसर पर आज संजीत रोड स्थित श्री खाटू श्याम मंदिर में दिल्ली के फूलों से बाबा का श्रृंगार किया गया। आज चार महाआरती सुबह 9.15 बजे, दोपहर 12.15 बजे, सायंकाल 7.15 बजे, एवं रात 12 बजे बाबा के जन्मोत्सव पर की जाएगी। भक्तों के लिए पूरे दिन मंदिर खुला रहेगा। इस अवसर पर पत्रकार अनिल जोशी की ओर से दोपहर 12.15 पर बाबा को छप्पन भोग का नैवेद्य लगाया गया।  सायंकाल 7.15 बजे 21ढोल से महाआरती की जाएगी।