कायदे कानून की छाती पर दौड़ती बसें दे रही हैं मौत का पैगाम(latest news in hindi danik patallok mandsaur)

मंदसौर। त्योहारी सीजन में इन दिनों बसों में खतरों का सफर लोग तय कर रहे हैं। नियमों का उल्लंघन यात्री बसों में जिले के ग्रामीण अंचल की सडक़ो पर खुलेआम हो रहा है। इन्हें कोई रोकने वाला ओर टोकने वाला नहीं है। ओवरलोडिंग बस में यात्रियों के पैरों तले तमाम नियम व कायदें रौंदते हुए यह कई बसें चल रही है। छत पर सवारी बैठी और हाईटेंशन लाइन के नीचे से बस गुजर रही है।

कई बसों में दो सवारी की सीट पर चार यात्री बैठे तो 50 सीटर बस में 140 से अधिक यात्री सवार हो रहे हैं। ओवरलोंडिग तो ठीक बस की छत पर भी यात्रियों को बिठाया जा रहा है। ठूस-ठूस कर यात्री को भेड़-बकरियों की तरह लोगों को बैठाया जा रहा है। और विडबंना तो यह है कि इसे कोई देखने वाला और टोकने वाला तक नहीं है। आम तोर पर ऐसे नजारें आदिवासी क्षेत्रों में देखे जाते है लेकिन त्यौहारी समर में मंदसौर जिले के ग्रामीण अंचल की सडक़ो पर भी ऐसे नजारें आम रुप से देखे जा रहे है। ऐसी ओवरलोडिंग बस में बस पलटने से लेकर लाइन के संपर्क में आने से करंट लगने और अंदर घबराहट से भी दुर्घटनाएं होने की आशंका बनी रहती है।