आदिवासी एवं दलित विरोधी कांग्रेस द्वारा राष्ट्रपति जी के पद का अपमान नही सहेंगे -(neemuch newes update )


नीमच । 28 जुलाई / देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति बनने का गौरव प्राप्त करने वाली श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी के राष्ट्रपति बनते ही कांग्रेस के नेताओं ने उन्हें कठपुतली, अशुभ और अमंगल का प्रतीक कहा और कल कांग्रेस के नेता अधिरंजन चौधरी ने तो बेशर्मी की पराकाष्ठा कर सदन में उन्हें राष्ट्रपत्नी जैसे अशोभनीय शब्द कह कर संबोधित किया जो कांग्रेस की महिलाविरोधी, आदिवासी विरोधी सोच को दर्शाता है। कांग्रेस के ऐसे मूढ़ नेता अधिरंजन चौधरी जिन्हें मातृशक्ति का सम्मान करने का भी ज्ञान नही है।
उक्त बातें विधायक दिलीप सिंह परिहार ने अपना विरोध जताते हुए कही, उन्होंने कहा कि,इस घोर कृत्य के लिए सोनिया गांधी और कांग्रेस के नेताओं को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए एवं लोकसभा के स्पीकर महोदय को इन्हें तुरंत लोकसभा की सदस्यता से निष्कासित किया जाना चाहिए।
इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत हरित सांसद प्रतिनिधि सत्यनारायण गोयल,आदित्य मालू, मंडल अध्यक्ष दीपक नागदा, दारा सिंह यादव,नारायण खंडेलवाल ,‌शुभम शर्मा, विकास नामदेव,अशोक शर्मा, गोपाल शर्मा, लोकेश चांगल रहे उपस्थित।