NEWS :

गरोठ-भानपुरा में महका जिले का पुष्प

गरोठ-भानपुरा में महका जिले का पुष्प

गरोठ-भानपुरा में महका जिले का पुष्प

कई कारिंदों के कारनामें देख किए उनके मुगालते दूर, कलेक्टर के निरीक्षण से क्षेत्र में खलबली
पालो रिपोर्टर ? मंदसौर/गरोठ/भानपुरा

क्षेत्र में शनिवार को कलेक्टर मनोज पुष्प कुछ इस कदर महके कि क्षेत्र में अपनी मनमानी और गलत ढंग से कार्य कर रहे अधिकारियों और कर्मचारियों के उनने तत्काल मुगालते दूर दिए। इस दौरान उनने निलंबन करने से लेकर चेतावनी देने तक अधिनस्थों को सुधारने के लिए हर हथकंडा अपनाया। वे तहसील कार्यालयों में पहुंचे और पटवारी व तहसीलदार को कार्यालय की गरीमा बनाए रखने के लिए ताकिद किया तो वहीं पटवारी उपाध्या को निलंबित भी किया। निरीक्षण के दौरान वे दूधाखेड़ी माता मंदिर गए, भानपुरा क्षेत्र की शैक्षणिक संस्थानों में पहुंचे।
दुधाखेड़ी माताजी मंदिर पर भोजनशाला के लिए अलग से समिति बनाए
दुधाखेड़ी माताजी मंदिर निर्माण कार्य का कलेक्टर के द्वारा औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान माताजी मंदिर के दर्शन किए। पुष्पमाला भेंट की गई एवं पूजा-अर्चना की गई। इसके साथ ही मंदिर निर्माण कार्य में त्वरित गति आए। इसके लिए सख्त निर्देश पीआईयू विभाग एवं निर्माण एजेंसी को प्रदान किए गए।
मंदिर निर्माण के लिए तैयार किया गया मास्टर प्लान को देखा एवं कंस्ट्रक्शन की जानकारी ली। इसके पश्चात भोजनशाला का निरीक्षण किया। भोजनशाला के निरीक्षण के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि यहां पर आने वाले सभी भक्तजनों को दोनों समय भोजन मिलना चाहिए। पहले की व्यवस्थाओं की बजाय अब की व्यवस्था में आमूलचूल परिवर्तन होना चाहिए। आने वाले समय में और भी बेहतर से बेहतरीन व्यवस्था हो, इसके लिए अलग से समिति का निर्माण किया जाए। जिससे भोजन शाला में किसी प्रकार की कोई दिक्कत न हो। खजराना मॉडल के आधार पर कार्य किया जाए।

गांधी सागर माध्यमिक एवं हाई स्कूल पहुंचे कलेक्टर
कलेक्टर मनोज पुष्प द्वारा प्रात: 11 बजे गांधी सागर क्रमांक 8 शासकीय कन्या माध्यमिक विद्यालय एवं शासकीय हाई स्कूल का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान कन्या माध्यमिक विद्यालय की जर्जर बिल्डिंग को तुरंत पास स्थित अच्छी बिल्डिंग में शिफ्ट करने के लिए अनुविभागीय अधिकारी को निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान बच्चों के मध्यान भोजन, उनको प्रतिदिन दिये जाने वाली भोजन के मेनू चार्ट के बारे में जानकारी ली। सामग्री के अंतर्गत आटा, दाल, चावल एवं अन्य सामग्री को देखा। भोजन की गुणवत्ता के बारे में चर्चा की। बच्चों के भोजन करने के पश्चात उनके हाथ धोने, थाली धोने की क्या व्यवस्था है, उसका जायजा लिया। इसके साथ ही बच्चों को पानी पीने की टंकी को देखा। उसकी साफ सफाई कराने के लिए निर्देश दिए। साफ सफाई करने के पश्चात टंकी को ऊपर फर्श से ढकने के लिए तहसीलदार को अवगत कराया। इस दौरान स्कूल के बच्चों से चर्चा की, बच्चों से उनके पाठ्यपुस्तक पढऩे के लिए कहा गया। बच्चों को बताया गया कि पढ़कर आप भी अपना बेहतर भविष्य बना सकते हैं। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर मनोज पुष्प, अनुविभागीय अधिकारी दांगी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार सहित प्राचार्य एवं शिक्षक, स्कूल के बालक बालिकाएं मौजूद थे।
केरोसिन का कम स्टॉक रखने के लिए निर्देश
गांधी सागर के स्कूल निरीक्षण के पश्चात कलेक्टर द्वारा ग्राम पंचायत प्रेमपुरिया कि सहकारी उचित मूल्य की दुकान का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान अनुविभागीय अधिकारी गरोठ को निर्देश देते हुए बताया कि सहकारी उचित मूल्य की दुकान पर केरोसिन की अतिरिक्त मात्रा का स्टाक ना हो, अगर इतना स्टाक है तो इसका निरीक्षण करें। निर्देश देते हुए बताया कि दुकान पर केरोसिन का अतिरिक्त स्टॉफ नहीं होना चाहिए। सभी हितग्राहियों को आधार मशीन पर अंगूठे लगाने के माध्यम से ही राशन प्रदान किया जाए। दुकान पर कितना राशन जमा है, इस माह में कितना राशन हितग्राहियों प्रदान किया गया, इसकी जानकारी ली। दुकान पर एंट्री की जाने वाले रजिस्टर का अवलोकन किया। मशीन पर स्टॉप शो केसे होता है। इसकी जानकारी ली। दुकान को हर माह की 21 तारीख तक अनिवार्य रूप से खोलने के निर्देश दिए।

तहसीलदार तहसील कार्यालय की व्यवस्था सुधारें
कलेक्टर मनोज पुष्प द्वारा गरोठ एवं भानपुरा तहसील कार्यालय की व्यवस्थाओं को देखने एवं कार्य प्रगति जानने के लिए तहसील कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान तहसीलदार को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि तहसील कार्यालय की व्यवस्था तुरंत सुधारी जाए। सभी पटवारियों की हल्के वार सूची बनाकर प्रस्तुत करें। लापरवाही बरतने वाले पटवारियों पर सख्त से सख्त कार्यवाही करें। पटवारियों की समय – समय पर बैठक भी आयोजित करें एवं उन्हें कार्य के प्रति निर्देशित करें। जो भी प्रकरण पेंडिंग है, उसकी प्रत्येक बैठक में पटवारियों के समक्ष चर्चा करें। पटवारी रिपोर्ट के लिए कोई भी फाइल नहीं रुकना चाहिए। इस बात पर विशेष तौर पर ध्यान दिया जाए। नामांतरण एवं बंटवारा के प्रकरणों का तुरंत जल्द से जल्द निराकरण करें। फाइलों पर जो आदेश किये गए है, उनको तुरंत अमल में लाएं। तहसील कार्यालय के आसपास सफाई व्यवस्था के लिये सख्त निर्देश दिए। तहसील कार्यालय निरीक्षण के पश्चात भानपुरा पुलिस थाने पर कलेक्टर द्वारा वृक्षारोपण भी किया गया। इस मौके पर आम के वृक्ष को पुलिस थाने में लगाया गया।
तहसीलदार-पटवारी मिलकर न्यायालय की गरिमा न गिराए
तहसील कार्यालयों का निरीक्षण के दौरान नाराजगी जताते हुए कलेक्टर ने कहा कि तहसीलदार एवं पटवारी मिलकर न्यायालय की गरिमा ना गिराए। ऐसा कोई कार्य न करें जिससे न्यायालय की गरिमा गिरे। इस दौरान उन्होंने कोर्ट रूम का निरीक्षण किया। पटवारियों की रिपोर्ट के कारण कितनी फाइलें विचाराधीन रखी है, उसकी जानकारी पटवारी हल्के अनुसार तुरंत बनाकर प्रस्तुत करें।
पटवारी किस हल्के में कब से हैं इसकी भी जानकारी तुरंत प्रदान करें। जितने भी प्रकरण है उनपर अमल कर प्रकरण रिकॉर्ड रूम में जमा करें। जमा न करने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। न्यायलय का सम्मान करें एवं अपने आप का सम्मान कर के आम नागरिकों के कार्यों पर ध्यान देवें। बटवारे हल्के जो 1 साल से अब तक निराकृत नहीं हुए हैं। उन बटवारे हलकों का जल्द से जल्द निराकरण करें। बटवारे हल्को का निराकरण जल्द ना करने पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। जितने भी रजिस्टर जो प्रमाणित नहीं है। उनको प्रमाणित करके रिकॉर्ड संधारित करें। फौती नामांतरण के मामले बिना किसी रूकावट के निराकरण होना चाहिए। नामांतरण के मामलों के निराकरण के लिए ग्राम स्तर पर शिविर आयोजित कर निराकरण भी करें।
पटवारी उपाध्याय को किया तत्काल प्रभाव से निलंबित
कलेक्टर मनोज पुष्प द्वारा भानपुरा तहसील कार्य का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान भैसोदा हल्का के पटवारी दुर्गाशंकर उपाध्याय को प्रधानमंत्री किसान फसल बीमा योजना एवं सीएम हेल्पलाइन की शिकायतों के निराकरण में लापरवाही बरतने, अमल दरअमद में लापरवाही बरतने तथा प्रतिवेदन समय पर प्रस्तुत न करने के कारण अनुविभागीय अधिकारी दांगी द्वारा तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account