NEWS :

250 करोड़ के सीवरेज प्रोजेक्ट पर शीघ्र काम होगा

250 करोड़ के सीवरेज प्रोजेक्ट पर शीघ्र काम होगा

250 करोड़ के सीवरेज प्रोजेक्ट पर शीघ्र काम होगा

प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा ने कहा

शिवना नदी को माही से जोड़े, शिवना नदी का मास्टर प्लान बनाया जाए, मां शिवना सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण अभियान समिति ने सौंपा ज्ञापन
मंदसौर। शहर में अरबन डेवलपमेंट कंपनी द्वारा 250 करोड़ के सीवरेज प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। इसमें175 किलोमीटर से अधिक की अंडरग्राउंड सीवरेज लाईन बिछेगी और शिवना के समीप नदी मेंमिल रहे गंदे पानी को रोका जाएगा। साथ ही नदी के समीप क्षेत्रों में ट्रीटमेंट प्लांट के जरिये पानी को शुध्द किया जावेगा। संबंधित विभाग के अधिकारियोंको शीघ्र कार्य पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया गया है।
यह बात मंदसौर जिले के प्रभारी मंत्री एवं जल संसाधन मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा ने कही। उन्होंने यह जानकारी माँ शिवना सौंदर्यीकरण एवं संरक्षण अभियान समिति के सदस्यों से स्थानीय गांधी चौराहे पर अनुरोध पत्र लेने के उपरांत दी। शिवना संरक्षण अभियान समिति ने इस अवसर पर 15 सूत्रीय मांगों का 114 नागरिकों के द्वारा हस्ताक्षरित अनुरोध पत्र (ज्ञापन) सौंपा।
ज्ञापन में मांग की गई कि शिवना नदी को नदी जोड़ों अभियान के तहत बांसवाड़ा की माही नदी से जोडऩे के लिए तकनीकी दल का गठन करें जिससे संभव हो सके कि शिवना में वर्ष भर जलप्रवाह रहे। शिवना नदी का स्थायी मास्टर प्लान बनाया जाए। सीवर लाईन प्रोजेक्ट अतिशीघ्र शुरु करें जिससे नदी में गंदे पानी के नालों को मिलने से रोका जा सके। घाटों पर साबुन से कपड़े धोने व नहाने पर प्रतिबंध लगाए। शिवना रक्षक दल गठित हो। शिवना नदी का सीमांकन कराए जिससे आमजन को नदी की लंबाई एवं चौड़ाई का ज्ञान हो। नदी में हो रहे अतिक्रमण को रोके। शिवना विकास प्राधिकरण बोर्ड का गठन हो। भगवान पशुपतिनाथ महादेव शिवना नदी से ही प्रकट हुए थे इनके प्राकट्य स्थल को पर्यटन के रुप में विकसित किया जाए। गौरतलब है कि गत कुछ वर्षों पूर्व नदी का स्वरुप 165 मीटर से घटकर 60 मीटर ही रह गया है। लगातार मिट्टी भर जाने से नदी की गहराई भी कम हो गई है। शासन इस दिशा में चिन्ता कर नदी को पुर्नजीवित करें। शासन की 40 नदियों में मंदसौर नगर की पुण्य सलिल शिवना को भी प्रोजेक्ट में शामिल करें।
ज्ञापन के अवसर पर अभियान के सदस्य किन्नर गुरु अनिता दीदी, विनोद कुमार मेहता, विनय दुबेला, प्रकाश सिसौदिया, डॉ क्षितीज पुरोहित, अक्षांशु संचेती, जितेन्द्र गेहलोत, मनीष भावसार, डॉ रविन्द्र पांडे, सत्येन्द्रसिंह सोम, बंशीलाल टांक, अजीज उल्लाह खां, कपिल मॉवर, संजय भाटी, विश्वास दुबे, राकेश भाटी, कमलेश जैन, तरुण शर्मा, कैलाश मनवानी, राजाराम तंवर, ललित चंदेल सहित बड़ी संख्या में नगर के नागरिक सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद थे।
शिक्षा विभाग ने किया श्रमदान
श्रमदान के 12वें दिवस शिक्षा विभाग एवं सामाजिक संगठनों ने प्रात: 6.30 बजे से 8 बजे तक श्रमदान किया। श्रमदान के दौरान 2 ट्रॉली गाद निकाली गई। इसके अलावा दिनभर एक पोकलेन मशीन एवं जेसीबी मशीन की सहायता से नदी से गाद निकालकर रोड़ निर्माण का कार्य तेजी से जारी है। श्रमदान के दौरान जिला शिक्षा अधिकारी आरएल कारपेंटर, जिला खेल अधिकारी अशोक पाटीदार, दिनेश आचार्य, प्रमोद सेठिया, विरेन्द्रसिंह सेंगर, राजेश बैरागी, गुलाबराव जाधव, भगवतीलाल गेहलोत, रश्मि मेहता, चंद्रविनोद सेंगर, कैलाशचंद्र सेठिया, सुनिल अग्रवाल, मनीष गौड़, शरदनारायण नीमे सहित बड़ी संख्या में शिक्षा जगत से जुड़े शिक्षाविद उपस्थित थे। शिवना गहरीकरण एवं सौंदर्यीकरण की सतत् मॉनीटरिंग मंदसौर एसडीएम अंकिता प्रजापति एवं तहसीलदार नारायण नांदेड़ा द्वारा की जा रही है। मात्र 12 दिनों के अभियान के दौरान रामघाट की ओर जाने वाले एक वैकल्पि मार्ग का नक्शा दिखने लगा है।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account