NEWS :

सुवासरा की शासकीय जमीन हजम करते बंदे

सुवासरा की शासकीय जमीन हजम करते बंदे

सुवासरा की शासकीय जमीन हजम करते बंदे

राम नाम जपना, शासकीय माल अपना इस कहावत को सुवासरा के कुछ बंदे प्रण-प्राण से हकीकत में तब्दील करने में जुटे है… शासकीय भूमि पर टील-टापर लगा के कब्जा करना हो… निजी जमीन के आसपास की शासकीय जमीन को अपनी जमीन में मिलाना हो तो इस बड़ी कमाई के लिये राजस्व के बंदों का नेचर भी बड़ा को-ऑपरेटिव्ह होता है… चुनाव के दौरान आचार संहिता के चलते बाबु और दिनेश ने एक शासकीय जमीन को ऐसी लुहारी चोट मारी की न परमिशन न नामांत्रण और न रजिस्ट्री के सरकारी जमीन पर मकान तान दिये… अब पहले ही कई अतिक्रमण सुवासरा में महफूज है तो इन तने हुए मकानों पर किसी ने ध्यान ही नहीं दिया…! जब भू-माफिया के लालच और हवस की उदी शासकीय जमीनों पर लगी हुई है और करोड़ों की जमीनें जीमी जा चुकी है तो ऐसे अतिक्रमणों पर नपं और राजस्व विभाग की दयानतदारी तो बनती है।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account