NEWS :

कांग्रेस का मजदूर हँू, आम जनता की सुनेंगे समस्या, कार्यकर्ताओं का बढ़ाएंगे सम्मान और ट्रांसफर होंगे ऑनलाईन

कांग्रेस का मजदूर हँू, आम जनता की सुनेंगे समस्या, कार्यकर्ताओं का बढ़ाएंगे सम्मान और ट्रांसफर होंगे ऑनलाईन

कांग्रेस का मजदूर हँू, आम जनता की सुनेंगे समस्या, कार्यकर्ताओं का बढ़ाएंगे सम्मान और ट्रांसफर होंगे ऑनलाईन

पालो से रूबरू होते, बोले प्रभारी मंत्री

मंदसौर। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद पहली बार दैनिक ‘पाताल लोकÓ जल संसाधन एवं जिले के प्रभारी मंत्री हुकमसिंह कराड़ा से शाजापुर के सर्किट हाऊस में रूबरू हुआ… कांग्रेस की रीति-नीति सेे ठेठ तक वाकिफ श्री कराड़ा से पार्टी, संगठन कांग्रेस की परफारमेंस के साथ आवाम के बारे में तफसील से गुफ्तगू हुई, जिले में लाईन लेवल से कार्य करने वाले कर्मचारियों को तवज्जों देने की बात करते हुए श्री कराड़ा ने लापरवाह एवं भ्रष्ट अधिकारियों को नहीं बख्शने की बात भी कही… आप मंदसौर के तब भी प्रभारी मंत्री थे जब पूर्व जिलाध्यक्ष नारायण राव हुपेले तन्मयता से कांग्रेस संगठन को चलाने के लिए खाना भी घर से टिपन में रखवा कर आते थे और सुबह 10 से शाम 5 तक जिला कांग्रेस कार्यालय गुलजार रहता था, ऐसी ही गुलजारी वे पुन: चाहते है, इस हेतु कराड़ा बताते है कि वे विधानसभा के पावस सत्र के पश्चात सप्ताह के 3 दिन मंदसौर, नीमच जिले में रहेंगे तथा विकासखंड और तहसील स्तर पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं से रूबरू होंगे, खुद को कांग्रेस का मजदूर बताते हुए श्री कराड़ा ने कहा कि वे कांग्रेस के गौरवशाली अतीत को पुन: लाने के लिए कृत संकल्पित है… कई मुद्दों पर हुई… अनछुई बातों पर स्टेट फॉरवर्ड हुई प्रभारी मंत्री से चर्चा सुधी पाठकों के समक्ष है…। (विस्तृत समाचार नीचे पढ़े)
पालो के उठाए मामलों पर होगी जांच
एक प्रश्न के उत्तर में प्रभारी मंत्री ने बताया कि एईओ भर्ती, जिला शिक्षा केंद्र, राज्य शिक्षा केंद्र की जो गड़बडिय़ां होने के मामले की तथ्यात्मक रिपोर्ट पाताल लोक ने मेरे संज्ञान में लाई है उस पर निश्चित ही जांच करवाई जा कर जो भी दोषी होगा उसको नियमानुसार कड़ी सजा दी जाएगी, प्रभारी मंत्री ने कहा यह तय है कि 15 साल के शासनकाल में कई अधिकारियों ने मंदसौर-नीमच जिले को चरागाह बना लिया था किंतु कांग्रेस शासन में ऐसा होने नहीं दिया जाएगा जो भी मामले पाताल लोक के संज्ञान में आते हैं उन्हें मेरे संज्ञान में लाया जाए मैं निश्चित उन पर कार्रवाई करूंगा।
ऑनलाइन होंगे ट्रांसफर
प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा ने बताया कि जहां तक शिक्षकों के ट्रांसफर को लेकर मुख्यमंत्री जी ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि ऑनलाइन आवेदन करना होंगे और ऑनलाइन ही ट्रांसफर किए जाएंगे प्रक्रिया एक-दो दिन में शुरू हो जाएगा उसके बाद शिक्षा विभाग में ट्रांसफर की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। शिक्षा विभाग भ्रष्टाचार के मामले सामने आ रहे हैं इस कारण से प्रक्रिया को ऑनलाइन किया गया है इसके बाद भी जो भी शासन के निर्णय होंगे उन पर अमल किया जाएगा।
प्रभारी मंत्री कराड़ा 25 जून को आएंगे
मंदसौर। जिले के प्रभारी मंत्री एवं जल संसाधन मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा 23 -24 को मंदसौर जिले के दौरे पर आने वाले थे किंतु शाजापुर में बोहरा समाज के धर्मगुरु के पधारने के कारण उनका यह दौरा कार्यक्रम आगे बढ़ गया।
अब वे 25 जून की शाम को शाजापुर से मंदसौर पहुंचकर रात्रि विश्राम करेंगे। 26 को प्रात: 11:00 बजे से 1:00 बजे तक कांग्रेस कार्यालय में पदाधिकारियों आम जन सामान्य से भेंट करेंगे। 1:00 बजे से 4:00 बजे तक जिला योजना समिति की बैठक में भाग लेंगे। 4.15 से 5:00 बजे तक जन सामान्य से चर्चाकर स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे। 26 जून की शाम को नीमच प्रस्थान कर जाएंगे रात्रि विश्राम नीमच में होगा।
27 जून को प्रात: 11:00 बजे से 1:00 बजे तक जिला कांग्रेस कार्यालय में कार्यकर्ताओ से भेंट करेंगे। 1:00 बजे से 4:00 बजे तक जिला योजना समिति की बैठक एवं शाम को नीमच से भोपाल के लिए प्रस्थान करेंगे।
सत्ता के तालमेल से संगठन को चुस्त दुरूस्त करने की कवायद करेंगे-प्रभारी मंत्री कराड़ा
(ऊपर से जारी विस्तृत समाचार) मंदसौर। जिले के प्रभारी मंत्री हुकुमसिंह कराड़ा से पाताल लोक से शाजापुर में रूबरू हुए और कांग्रेस सरकार की जिले में चल रही गतिविधियों और संगठन की स्थिति पर खुलकर चर्चा की, कराड़ा ने जिला कांग्रेस की स्थिति पर अपनी बेबाक टिप्पणियां की, उन्होंने यहां तक कहा कि नारायण राव हुपेले के समय भी में मंदसौर जिले का प्रभारी रहा हूं और वो दिन भी देखें है, जब वे 10:00 बजे अपना टिफन लेकर कांग्रेस कार्यालय में आकर बैठते थे और शाम तक वे कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिलते थे, आम जनता की समस्या सुनते थे और निराकरण कराने में वे अपना पूरा सहयोग देते थे, किंतु वर्तमान में स्थिति बदल गई है, इस कारण से आम जनता और कांग्रेस कार्यकर्ता हताश निराश से लग रहे हैं, किंतु शीघ्र ही इस शून्य को भर दिया जाएगा और पुन: कांग्रेस कार्यालय का गांधी भवन गुलजार होगा।
आम जनता की समस्याएं भी सुनी जाएगी, कार्यकर्ताओं का भी सम्मान बढ़ाया जाएगा: श्री कराड़ा ने बताया कि संगठन में कुछ कमियां रही हैं जिस कारण से संगठन में इतने पदाधिकारी होते हुए भी हमें विधानसभा और लोकसभा में अपेक्षित सफलता नहीं मिली, राहुल जी ने पिपलिया मंडी की सभा में जिस प्रकार से वातावरण बनाया था कांग्रेस के पक्ष में कहीं न कहीं कांग्रेस कार्यकर्ता उसको कांग्रेस के पक्ष में करने में असफल रहे हैं।
यही कारण है कि किसान आंदोलन में मारे गए किसानों को लेकर प्रदेश में भाजपा के खिलाफ कांग्रेस ने माहौल बनाया प्रदेश में ही सफल हमें सफलता मिली किंतु मंदसौर जिले में किसानों हत्या कांड हुआ वहां पर सफलता नहीं मिलना निश्चित हमारे लिए विचारणीय है।
संगठन को चुस्त दुरूस्त करने के प्रयास: कांग्रेस संगठन को और अधिक चुस्त दुरुस्त कर आ रही है शून्यता को तोडऩे के लिए निश्चित ही संगठन में बदलाव की आवश्यकता पर बल उन्होंने दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश कार्यकारिणी में लगभग आधा दर्जन पदाधिकारी मंदसौर जिले से है, जिला कार्यकारिणी मैं भी काफी लोग हैं किंतु कांग्रेस कार्यालय का रोज नहीं खुलना निश्चित ही आम जनता को कांग्रेस से दूर कर रहा है, प्रदेश स्तर का पदाधिकारी जिले स्तर के पदाधिकारी अगर एक-एक दिन कांग्रेस कार्यालय में बैठे और आम जनता की समस्याएं सुने, उन पर कार्यवाही करें तो मैं सोचता कि वो समय आयेगा और कांग्रेस सशक्त होगी।
आम जनता से दूरी: आम जनता की निराशा पर उन्होंने अपनी बेबाक टिप्पणी करते हुए कहा कि आम जनता तक कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंच नहीं पाये, आम जनता के काम कांग्रेसी कार्यकर्ता नहीं कर पायेगे तो स्वाभाविक है कि जो उनका काम करेगा उनकी तरफ उनका झुकाव होगा और यही कारण है कि मंदसौर विधानसभा और लोकसभा में हमारी हार हुई, केवल एक सुवासरा सीट हम बचा पाये।
किंतु आश्चर्य तब होता है कि 6 महीने बाद उसी विधानसभा में हमने सबसे ज्यादा वोटों से हारी हमें इस पर गहन चिंतन, मनन करना पड़ेगा और आम जनता तक कांग्रेसी कार्यकर्ता को अपनी पहुँच बढ़ाना पड़ेगी।
भोपाल या शाजापुर आने से बचे: एक प्रश्न के उत्तर में हुकुमसिंह कराड़ा ने कहा कि कार्यकर्ता मेरे पास काम के लिए भोपाल और शाजापुर आ जाते हैं और विशेषकर स्थानान्तर की लिस्ट लेकर मैं उन्हें स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मैं भोपाल और शाजापुर बैठकर किसी का कोई ट्रांसफर नहीं करूंगा, जो भी वैधानिक प्रक्रिया होगी वह मंदसौर में बैठकर ही पूरी होगी, मंदसौर के सभी वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा करने के बाद निर्णय लिये जायेंगे, किसी एक कार्यकर्ता के कहने से किसी अधिकारी को हटाया या बिठाया नहीं जाएगा।
भ्रष्ट अधिकारियों पर गिरेगी गाज: श्री कराड़ा ने कहा कि जो अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त हैं और विगत कई वर्षों से सरकारी नियमों को बला-ए-ताख रखकर अपनी मलाईदार पोस्टिंग पर काम कर रहे हैं उन्हें उनके स्थान से हटाकर उनके कार्यकाल की पूरी जांच करवाई जाएगी और और दोषी पाए जाने पर उनके खिलाफ निश्चित ही कार्यवाही की जाएगी।
पिपल्या मंडी आंदोलन: पिपलिया मंडी हत्याकांड पर पूर्व की सरकार ने काफी कुछ लीपापोती करने की कोशिश की है किंतु किसान आंदोलन में किसानों की हत्या करने वालों की जांच की जा रही है और जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ वैधानिक कार्यवाही नियमानुसार की ही जाएगी, किसी भी दबाव में आकर हम किसी को छोड़ेंगे नहीं।
कांग्रेसी कार्यकर्ताओ में राहुल गांधी ने जिस उत्साह जोश का संचार किया था वह संसदीय क्षेत्र के कार्यकर्ता बरकरार नहीं रख पाये, राहुल जी के कार्यक्रम के बाद भी उन्होंने यह सोच लिया हम जीत जाएंगे और इसका नुकसान कांग्रेस को हुआ और भाजपा ने येन केन प्रकारेण मंदसौर संसदीय क्षेत्र की 8 में से 7 सीटें जीती हम सिर्फ एक सीट बचा पाए। यह हमारे लिए बहुत बड़ा सदमा था।
संगठन को मजबूत करेंगे: विधानसभा सत्र के बाद पूरा समय मंदसौर-नीमच जिले को दूंगा, अभी विधानसभा सत्र शुरू होने वाला है जुलाई के दूसरे सप्ताह में पावस कालीन सत्र की समाप्ति के बाद मैं पूरी तरह संकल्पित होकर मंदसौर-नीमच जिले में सप्ताह में 3 दिन का समय देकर हर विकासखंड, तहसील स्तर पर पहुंचकर कार्यकर्ताओं से चर्चा करूंगा उनकी कठिनाइयों का निवारण करूंगा और संगठन को हम पुरानी धार देगें जिससे कि आने वाले समय में कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह का संचार हो और वे स्थनीय संस्थाओं के निर्वाचन में अपनी पूरी जी जान लगाकर काम करें।
कार्यकर्ता भी नाराज: कई कार्यकर्ता मेरे पास भोपाल शाजापुर आ जाते हैं, किसी व्यक्तिगत कारणों से किसी अधिकारी से नाराज होकर मैं किसी को सजा नहीं दे सकता, जो दोषी है तो उसके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी उसको छोड़ा नहीं जाएगा किंतु व्यक्तिगत कारणों से कोई कार्य करता है, किसी अधिकारी का ट्रांसफर करवाता है तो यह उचित नहीं है, इससे कई कार्यकर्ता नाराज हो कर चले जाते हैं ।
मेरा प्रभार हटवा दे: जो कार्यकर्ता मुझसे नाराज होते हैं, मैंने उनसे यही कहा कि आप मुख्यमंत्री जी से कह कर मेरा प्रभार बदलवा दो और अपनी मर्जी का प्रभारी मंत्री ले आओ, जो आपकी इच्छा के अनुसार काम करें, मैं कांग्रेस संगठन की रीति नीति के अनुसार ही काम करूंगा और जो उचित होगा वही होगा अनुचित या दबाव डालकर मुझसे कोई काम नहीं करवा सकता।
कांग्रेस का मजदूर: श्री कराड़ा ने कहा मैं कांग्रेस का मजदूर हूं कांग्रेस की मजदूरी कर रहा हूं और आगे भी मजदूर के रूप में ही काम करता रहूंगा और एक ईमानदार मजदूर के रूप में मैं काम कर रहा हूं और आगे भी करता रहूंगा, मंदसौर जिले में मैं हुवले जी के समय से ही प्रभारी रहा हूं और मैं कांग्रेस का गौरवशाली अतीत वापस मंदसौर में खड़ा करने के लिए कृत संकल्पित होकर और विधानसभा के पावस सत्र के बाद पूरी तरह में मंदसौर नीमच जिले में सप्ताह में 3 दिन जैसा कि मुख्यमंत्री के निर्देश है उनका पालन करता रहूंगा।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account