NEWS :

राजस्व कार्यालय में उतारा करते पकड़ाया आरआई

राजस्व कार्यालय में उतारा करते पकड़ाया आरआई

राजस्व कार्यालय में उतारा करते पकड़ाया आरआई

दिन दहाड़े झलकते रहे पैग पे पैग और बाहर 3 घंटे तक जनता होती रही परेशान, अधिकारियों ने कह दिया अभी हम बैठक में हैं
पालो रिपोर्टर = सुवासरा

नगर में गुरूवार को राजस्व कार्यालय के बाहर उस वक्त हंगामा मच गया, जब कई बार दरवाजा बजाने और आवाजे लगाने के बाद भी अंदर से किसी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। करीब तीन घंटे तक बाहर आम जनता काफी परेशान हो गई उसके बाद कहीं जाकर अंदर से चपरासी ने दरवाजा खोला और जब कुछ खबर नविजों ने अंदर जाकर माहोल देखा तो पता चला यहां तो नगर के राजस्व निरीक्षक साहब उतारा कर रहे थे। करीब तीन घंटे से साहब अंदर पैग पर पैग चढ़ाए जा रहे थे और बाहर आम जनका परेशान होती रही। खास बात यह है कि मामले में जब मौके से ही लोगों ने एसडीएम व जिले के अन्य आला अधिकारी को पूरी घटना की जानकारी दी तो उनने बैठक में हैं कहकर ईतिश्री कर ली।
सुना था कांग्रेस के शासन काल में तमाम प्रशासनिक मशीनरी सुद सावल में काम करती है, लेकिन यहां तो संसदीय क्षेत्र के एक मात्र कांग्रेस विधायक हरदीपसिंह के गृह नगर में ही कुछ उल्टा होता दिख रहा है। दरअसल एक नप्ती के मामले में लंबे समय से परेशान चल रहे वार्ड 6 के पार्षद प्रतिनिधि तेजू बगाड़ा सुबह 11 बजे तहसीलदार के बंगले के सामने स्थित राजस्व कार्यालय पर पहुंचे, तो दरवाजा अंदर से बंद था। तेजू ने दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई। आवाजें भी लगाई, लेकिन किसी ने दरवाजा नहीं खोला। करीब एक घंटे तक यही क्रम चलता रहा। इस बीच अन्य हितग्राही भी यहां एकत्र हो गए, जिन्हें राजस्व संबंधी और भी काम थे। तब पार्षद प्रतिनिधि बगाड़ा ने मीडिया को इस बात की सूचना की। खबर मिलते ही मौके पर कुछ खबर नविज़ पहुंचे और उनने भी काफी दरवाजा खटखटाया, आवाजें लगाई। यहां तक की इस हंगामें की आवाज सुनकर पूरा मोहल्ला एकत्र हो गया, लेकिन अंदर जो भी लोग मौजूद थे उनके कान पर जूं तक नहीं रैंगी। खबर के अनुसार इस दौरान एसडीएम अर्पित वर्मा को भ कॉल किया गया, लेकिन उनने यह कह दिया कि मैं अभी बैठक में हूं। इसके बाद खुद मीडियाकर्मियों और उपस्थित भीड़ ने जबरदस्त तरिके से दरवाजा बजाना शुरू किया। तब कहीं जाकर तीन घंटे की मशक्कत के बाद दोपहर करीब 2 बजे अंदर मौजूद चपरासी गोपाल शर्मा ने दरवाजा खोला और खोलते ही दरवाजा अंदर से फिर बंद कर लिया। चंद मिनटों बाद उसने पुन: दरवाजा खोला और मीडियाकर्मी अंदर गए तो पता चला कि दरवाजा खोलकर वापस लगाने का मक्सद अंदर चल रही दारू पार्टी के साक्ष्य मीटाना था। दरअसल अंदर दिन दहाड़े राजस्व निरीक्षक प्रमोद भाटी शराब खौरी कर रहे थे, लेकिन वे ठीक से साक्ष्य मिटा नहीं पाए और मीडियाकर्मियों ने यहां दारू की बॉतलें, खाली डिस्पोजल, चखना आदि पकड़ लिया। इस दौरान जब मीडिया ने भाटी से कहा कि आप अंदर शराब पी रहे थे तो उनने तत्काल हाथ झटक लिए कि मैं कोई शराब नहीं पी रहा था और इसी तरह की बात करते हुए बाहर से अपने चालक को आवाज लगाते हुए गाड़ी में सवार होकर मौके से रवाना हो गए।
सुबह की घटना और एसडीएम के संज्ञान
में रात को आया
इधर, इस मामले में जब दैनिक पाताल लोक संवददाता ने एसडीएम अर्पित वर्मा से रात 8.58 बजे उनके मोबाइल नंबर 9111733533 पर कॉल किया तो पहले तो उनने मोबाइल रिसीव नहीं किया, लेकिन जब लगातार दूसरी बार कॉल किया गया और मामले में पूछा गया कि इस तरह की घटना घटित हुई और प्रत्यक्षदर्शियों ने मौके से आपको कॉल भी किया था। आपने स्वयं के बैठक में होने की बात कही थी तो वर्मा ने जवाब दिया कि हां उस वक्त बैठक चल रही थी। जब वर्मा से पूछा गया कि इस मामले में अब तक क्या कार्रवाई की गई है या क्या कार्रवाई की जाना है तो आपने जवाब दिया कि मामला अभी संज्ञान आया है कल कार्रवाई करते हैं।
आरआई ने नहीं उठाया फोन
इधर, इस मामले में जब पालो रिपोर्टर ने राजस्व निरीक्षक प्रमोद भाटी से उनके मोबाइल नंबर 9827923901 पर गुरूवार रात 9.8 बजे कॉल करके उनका पक्ष भी जानना चाहा तो भाटी ने दो बार में भी फोन नहीं उठाया।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account