NEWS :

करोड़ों की शासकीय जमीन हजम करते जा रहे भू-माफिया!

करोड़ों की शासकीय जमीन हजम करते जा रहे भू-माफिया!

करोड़ों की शासकीय जमीन हजम करते जा रहे भू-माफिया!

नर्सिंग होम का अतिक्रमण तो अतिक्रमण की झलक भी नहीं
पालो कार्यालय = मंदसौर

सुवासरा। सरकार भाजपा की हो या कांग्रेस की सुवासरा के भू-माफियाओं को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, वे राजस्व विभाग और नेताओं को सेट करके रखते है, ब्लाक मेडिकल ऑफीसर डॉक्टर जौहरी का कथित नर्सिंग होम इस बात का सबूत है। जिस पर निर्माण के दौरान कार्यवाही भी हुई, पंचनामा भी बना लेकिन इस नर्सिंग होम का निर्माण नहीं रूका, दरअसल यह नर्सिंग होम अतिक्रमण में नहीं बना बल्कि जिस अवैध कॉलोनी क्षेत्र नई आबादी में यह नर्सिंग होम है उसके कालोनाईजर ने खुद की कथित भूमि के साथ शासकीय भूमि हथिया कर रोड किनारे प्लाट काट कर ऊंचे दामों में बेच दिये।
जानकार सूत्र बताते है सर्वे क्रमांक 946 में उक्त अवैध कॉलोनी लगभग छ: से सवा छ: बीघा के आसपास थी इसी के आसपास की शासकीय जमीन पर कब्जा कर भू-माफिया ने अपनी कॉलोनी को लगभग साढ़े आठ, पौने नौ बीघा की कॉलोनी बना दी।
नई आबादी की खास सड़क से लगी पूरी लम्बी पट्टी पर 50&30 का सलंग अतिक्रमण कर दिया गया है और यह कीमती जमीन प्लाटों के रूप में बेच कर अच्छी दौलत कूट ली गई, इसी शासकीय पट्टी (जमीन) पर जोहरी का नर्सिंग होम भी आता है जिसकी रजिस्ट्री 90&30 की है जबकि इसी नर्सिंग होम का डायवर्शन 19 सौ वर्ग मीटर का है। इसी भू-माफिया के किशोरपुरा रोड की कॉलोनी की कहानी भी कुछ ऐसी ही है सरकारी जमीन घेरकर एक प्लाट नपं के कारिंदे को दिया गया है व अन्य प्लाटों की बुकिंग भी हो चुकी है। यही नहीं इसी तरह की दूसरी जमीनों के प्रकरण भी खोज का मामला बन सकते है, बताया जाता है यह भू-माफिया सरकारी जमीन को दबाकर उन्हें ऊंचों दामों में बेचने का इरादतन अपराधी है।
एसडीएम से हैं उम्मीदें
एसडीएम अर्पित वर्मा की नीर-क्षीर कार्यप्रणाली गरोठ-भानपुरा क्षेत्र के लिये यादगार रही है, सुवासरा में करोड़ों रूपयों की शासकीय भूमियों पर माफियाओं द्वारा अतिक्रमण करने का नाजाइज रिवाज बादस्तुर जारी है, नालों की जमीने तथा शासकीय निर्माण के लिये रिक्त भूमियों पर भी जमीनखोर सफेदपोशों ने अतिक्रमण कर रखे है। ग्राम पंचायत से बनी नगर पंचायत के कारण भी धुर्त जमीनखोरों ने राजस्व अधिकारियों को सेट करते हुए सियासी संरक्षण के चलते खुब शासकीय जमीने बटोरी है। निष्पक्ष जांच हो तो प्रदेश की नगर पंचायत में शासकीय जमीन हड़पने का बड़ा मामला सुवासरा में उजागर हो सकता है।
रिकार्ड खोज रहे हैं
मेरे पिछले कार्यकाल में डॉ जोहरी के नर्सिंग होम पर कार्यवाही हुई थी, इस मामले में पंचनामा भी बनाया गया था, पुराना रिकार्ड नहीं मिल पा रहा है, पुराना रिकार्ड मिलने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के संज्ञान में मामला डाला जाएगा।
देवेन्द्र दानगढ़
पटवारी, सुवासरा

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account