NEWS :

बिजली कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम करने को मजबूर

बिजली कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम करने को मजबूर

बिजली कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम करने को मजबूर

पालो रिपोर्टर = शामगढ़
बिजली कटौती को लेकर सरकार ने सख्त रवैया अख्तियार कर रखा है कुछ हद तक यह सही भी है लेकिन क्या चालू लाईन में अब बिजलीकर्मी लाईन को दुरूस्त करने का काम भी करेंगे… यह समझ से परे है।
जी हाँ दरअसल शामगढ़ के एई महेन्द्र पंवार द्वारा बीती रात एक इलाके में बिजली बन्द हो जाने के बाद कर्मचारियों से कहा गया कि चालू लाईन में ही काम करना होगा, उन्हें कोई परमिट नहीं दिया गया।
लाईन बंद नहीं होगी
इस तरह के तुगलगी फरमान के बाद बिजली कर्मी चिंतित नजर आए। चालू लाइन में कार्य तो करना लेकिन एई ने इस प्रकार के निर्देश नहीं दिए कि सेप्टी बेल्ट, सुरक्षा हेड, इन्सुलेट ग्लब्ज, जुटे के साथ सावधानी रखकर पोल पर चढऩा है उनके सामने कर्मचारी बिना सुरक्षा उपकरण के ऊपर सीगड़ रहे है। इन्ही लापरवाही के कारण कुछ ही दिनों जब अन्तराल में 3 कर्मचारी पोल पर से गिरे यह तो गनीमत रही कि ज्यादा चोट नहीं आई।
आज भी गभीर हादसा होते हुए बचा गरोठ रोड बजाज शोरूम के सामने चालू लाइन में विद्युत कर्मी रामनिवास मालवीय (कुरावन) शामगढ पोल पर चढ़े करंट लगने से सीडी पर गिरे व सीडी के कारण धीरे धीरे नीचे गिरे घायल होने पर उन्हें कोई उलझन से बचने के चक्कर मे शासकीय हॉस्पिटल ना ले जाते हुए उन्हें प्राइवेट आशीर्वाद किलनिक पर ले जाया गया। जहाँ उनका इलाज बिना किसी सवाल जवाब के प्राथमिक इलाज के साथ पूरा इलाज ही कर दिया। जबकि दुर्घनाग्रस्त होने पर शासकीय हॉस्पिटल में ही ईलाज होना था। जब प्राइवेट किलनिक पर मीडिया वाले पहुंचे तो जवाबदार अधिकारी कैमरे से बचते हुए भाग खड़े हुए। यह तो गनीमत रही दुर्घटना में ज्यादा चोट नहीं लगी। आनन फानन में छुट्टी कर दी गई।
महेंद्र पंवार (एई)- लाइनमेन को चालू लाइन में ही सुरक्षा के साथ कार्य करना होगा सर्विस लाइन ठीक करने हेतु बार बार लाइन बंद नही की जा सकती। करंट लगने से रामनिवास मालवीय पोल से गिरे उन्हें सावधानी के साथ पोल पर चढऩा चाहिए था। उपचार करवाया गया अब ठीक है।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account