NEWS :

पहली ही रैकी में दे दिया था वारदात को अंजाम

पहली ही रैकी में दे दिया था वारदात को अंजाम

पहली ही रैकी में दे दिया था वारदात को अंजाम

मामला: आभूषण व्यापारी को गोली मारकर लूट का

घटना के बाद बाइक से सीधे पुणे फरार हो गए थे आरोपी, दो नाबालिग सहित पांच आरोपी गिरफ्तार, 3 किलो 900 ग्राम चांदी सहित बाईक बरामद, दो आरोपी अब भी फरार
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

दलौदा में 7 जून की रात दुकान मंगल कर जा रहे आभूषण व्यापारी को गोली मारकर लूट के मामले का पुलिस ने पटाक्षेप किया। मामले में पुलिस ने पुणे महाराष्ट्रा के कंजर गैंग द्वारा स्थानीय अपराधियों से मिलकर वारदात करने का खुलास किया है। आरोपियों ने एक ही दिन की रैकी में घटना को अंजाम दे दिया था। खास बात यह है, कि घटना के तत्काल बाद पुलिस की नाकाबंदी की पोल भी इस खुलासे में खुली कि आरोपी घटना के ठीक बाद बाकायदा बाइक से ही ठेट पुणे तक फरार होने में कामियाब हो गए थे। खैर मामले में पुलिस ने दो नाबालिगों सहित पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, तो वहीं 2 की अब भी तलाश है।
पुलिस कंट्रोल रूम पर आयोजित प्रेस वार्ता में एसपी हितेश चौधरी ने खुलासा किया कि घटना के ठीक बाद प्रत्यक्षदर्शियों ने जो सहयोग पुलिस का किया और जो तथ्य बताए। उन्हीं तथ्यों के मार्फत आरोपियों तक पहुंचने में काफी कुछ मदद मिली और सुबह ही मामले में संदिग्ध स्थानों पर पुलिस टीमें रवाना कर दी थी। इसी पूछताछ के दौरान यह पता चला कि घटना को अंजाम देने वाले 6 बदमाश बानीखेड़ी बाछड़ा डेरों में अनिल बाछड़ा के यहां देखे गए थे। पुलिस ने जब अनिल के यहां दबिश दी तो पता चला घटना के बाद से ही वह फरार है तथा घर की महिलाएं भी इधर-उधर चली गई थी, जिससे पुलिस का शक मजबूत हुआ। अनिल की पत्नी ने बताया कि उसके भाई के दो नाबालिग लड़के व उनके चार दोस्त आए थे, जिनके हुलिए एवं बाइक के स्टाईल के आधार पर वारदात में संदिग्ध 6 बदमाश व तीन बाइक के अनुसार उक्त बदमाशों का पुणे महाराष्ट्र का होना ज्ञात हुआ। पुलिस ने तत्काल पुणे में उनि गोपाल गुणवत और सउनि निनामा के नेतृत्व में दो टीम पहुंचाई और वहां की एक नीचली बस्ती में लगातार नजर रखी गई, लेकिन कोई सफलता हाथ नहीं लगी। सोमवार को मुखबिर की सूचना पर दो बाहरी लड़कों को सराफा बाजार में चांदी के आभूषण बेचने के लिए घुमते हुए हिरासत में लिया। इनसे गहनता से पूछताछ की गई तो उनने वारदात करना कबूला। मामले में पुलिस ने आरोपी श्रीकांत पिता राम गायकवाड़ चर्मकार 28 साल निवासी गणेश मंदिर के सामने मकान नंबर सात थाना नवली बस्ती चकनी तहसील हवेली जिला पुणे, अजय पिता अंकुश उर्फ लवकुश राठौर(कंजर) 19 साल निवासी जेजूरी सिमलेस कंपनी के सामने सुवरना ढाबा जिला पुणे, अनिल पिता दरियाब बांछड़ा 27 साल निवासी बानीखेड़ी जिला मंदसौर तथा दो नाबालिगों को गिरफ्तार किया गया। इसी तरह दो आरोपियों की अभी तलाश जारी है। गौरतलब है, कि आरोपियों ने बानीखेड़ी रोड दलौदा स्थित गुडिय़ा ज्वेलर्स के संचालक विकास व उसके पिता हीरालाल पाल के साथ उक्त लूट की वारदात की थी। इस दौरान विकास के पैर में गोली भी दागी थी। मामले में भावगढ़ टीआई, दलौदा चौकी प्रभारी सहित पूरे स्टॉफ का उल्लेखनीय योगदान रहा, जिनके लिए उचित पुरूस्कार दिया जाएगा।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account