NEWS :

असम से मंदसौर आ रही सवा किलो ब्राउन शुगर बरामद

असम से मंदसौर आ रही सवा किलो ब्राउन शुगर बरामद

असम से मंदसौर आ रही सवा किलो ब्राउन शुगर बरामद

बर्डिया इस्तमुरार के दो आरोपी गिरफ्तार, मंदसौर के किसी ईश्वर को देना था मादक पदार्थ, बर्डिया के ही किसी देवीलाल के ईशारे पर गए थे असम

पालो रिपोर्टर = मंदसौर
लंबे समय बाद जिले में मादक पदार्थ तस्करी के मामले में बुधवार को एक बड़ी कार्रवाई का खुलासा नवागत कलेक्टर हितेश चौधरी ने किया। पुलिस कंट्रोल रूम पर आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने बताया कि ट्रक के माध्यम से असम के गुवाहटी से मंदसौर आ रही सवा किलो ब्राउन शुगर जिले की भानपुरा पुलिस ने पकड़ी है। मामले में ट्रक चालक सहित बर्डिया इस्तमुरार के दो आरोपी ट्रक से गिरफ्तार हुए। उक्त मादक पदार्थ बर्डिया के ही किसी देवीलाल के कहने पर वे लेने गए थे और मंदसौर के किसी ईश्वर को देना तय हुआ था। फिलहाल पुलिस देवीलाल व ईश्वर के बारे में जानकारियां जूटा रही है।
एसपी हितेश चौधरी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर भानपुरा पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर भवानमंडी-बर्डिया इस्तमुरार मार्ग स्थित कुंतलखेड़ी के पास नाकाबंदी ट्रक एमपी 09 जीजी 9778 को रोककर उसकी तलाशी ली गई। इस दौरान ट्रक में चालक कैबिन में रखे एक काले रंग के बेग को खोलकर देखा तो उसमें एक प्लास्टिक की थेली में एक किलो 270 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद हुई। मौके से ट्रक चालक सुरेश पिता औंकारलाल कुशवाह 42 साल व उसके साथी पीरूसिंह पिता वजेसिंह सौंधिया राजपूत 22 साल दोनों निवासी बर्डिया इस्तमुरार को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार आरोपियों ने बताया कि उक्त ब्राउन शुगर लेने के लिए बर्डिया इस्तमुरार के ही किसी देवीलाल ने कहा था तथा इस काम के लिए ट्रक मंदसौर के किसी ईश्वर ने उपलब्ध करवाया था। उक्त मादक पदार्थ यहां लाने के बाद ईश्वर को देना था। मामले में पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट 8/21, 29 के तहत केस दर्ज किया।
इंदौर के ओमप्रकाश का है ट्रक
उक्त मामले में भले ही पुलिस बता रही हो कि ट्रक मंदसौर के किसी ईश्वर ने उपलब्ध कराया था। जबकि पुलिस को अभी तो ईश्वर व देवीलाल के संबंध में कुछ अधिक बता भी नहीं पा रही है। खैर बात यदि उक्त तस्करी में उपलब्ध ट्रक की करें तो परिवहन विभाग की साईट पर उक्त वाहन 368 सुखलिया सांवेर रोड इंदौर निवासी ओमप्रकाश पिता भंवरलाल के नाम दर्ज है। अब देखना यह है, कि उक्त मामले में पुलिस इंदौर के सुखलिया तक पहुंच पाती है या वही आरोपियों के आधार पर ट्रक की कहानी भी मंदसौर के तथाकथित ईश्वर तक ही सीमट कर रही जाएगी।
ये कैसे पॉसिबल है कप्तान
मामले के खुलासे में कप्तान हितेश चौधरी ने बताया कि मामले में बर्डिया इस्तमुरार के देवीलाल व मंदसौर के ईश्वर की भी भूमिका है। जैसा कि पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने उगला, लेकिन जब कप्तान से पूछा गया कि इन दोनों आरोपियों की पूरी प्रोफाइल क्या है तो वे यही कहते नजर आए कि इस बात की अभी जांच चल रही है। अब ये कैसे पॉसिबल है, कि जिन दो लोगों के नाम आरोपियों ने बताए उनकी पूरी प्रोफाइल आरोपियों ने नहीं उगली होगी। ये बात कहीं से कहीं गले नहीं उतर रही या तो एसपी के मंदसौर पुलिस के एनडीपीएस की कार्रवाईयों से ठीक से परिचीत नहीं होने का पूरा लाभ एनडीपीएस के कुछ घाघ पुलिसकर्मी उठा रहे हैं या यदि एसपी हितेश चौधरी को भी ये जानकारी पूरी है और वे किसी कारण बता नहीं पा रहे हैं तो शायद इसमें भी कोई अतिश्योक्ति नहीं कि एक बार फिर मंदसौर जिले में एनडीपीएस करो और अधिकारियों को खुश करो वाला युग प्रारंभ हो चुका है। खैर नौजवान एसपी हितेश चौधरी ने दावा किया है, कि वे एनडीपीएस या अन्य किसी भी मामले में रूपए लेकर तोड़ बट््टे करने अथवा आरोपियों को बक्शने वाले पुलिसकर्मियों पर सख्त कार्रवाई करेंगे।
इनकी रही संराहनीय भूमिका
एसपी चौधरी ने बताया कि उक्त कार्रवाई में भानपुरा निरीक्षक ओपी तंतवार, उप निरीक्षक राकेश चौधरी व उनकी टीम आरक्षकगण नीलेश चौधरी, कानसिंह, मनीष बघेल, ममशाद नूर, शैतानसिंह, पंकज निगम, नरेंद्रसिंह की संराहनीय भूमिका रही। उक्त पूरी टीम को अंतर्राज्यीय तस्करों को गिरफ्तार करने पर उचित पुरूस्कार दिया जाएगा।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account