NEWS :

अच्छी खबर: प्लास्टिक मुक्त होंगे सरकारी दफ्तर

अच्छी खबर: प्लास्टिक मुक्त होंगे सरकारी दफ्तर

अच्छी खबर: प्लास्टिक मुक्त होंगे सरकारी दफ्तर

प्लास्टिक के डिस्पोजल का उपयोग नहीं करने से होगी शुरूआत

2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त घोषित करने का संकल्प, शासन ने जारी किए आदेश
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

बढ़ते पर्यावरण प्रदूषण को लेकर सरकार ने एक अच्छी शुरूआत का निर्णय लिया है, कि अब तमाम सरकारी द्फ्तरों को धीरे-धीरे प्लास्टिक मुक्ति किया जाएगा। इसी शुरूआत प्लास्टिक के डिस्पोजल बंद करने से की जाएगी। 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्ती का संकल्प लिया गया है। मामले में शासन ने आदेश भी जारी कर दिए हैं।
शासकीय कार्यालय, नगरपालिका, अस्पताल अब पूरी तरह से प्लास्टिक मुक्त होंगे। कार्यालयों में प्लास्टिक सहित थर्मोकॉल व प्लास्टिक की अन्य सामग्रीयों का उपयोग नहीं हो सकेगा। कार्यालयों में होने वाले आयोजनों में भी प्लास्टिक के डिस्पोजेबल सहित सिंगल यूज प्लास्टिक की सामग्री प्रतिबंध रहेगी। केन्द्र सरकार ने 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को पूरी तरह से बंद करने का संकल्प लिया हैं। इसी को लेकर राज्य शासन से जिले में भी आदेश आ गए है। प्लास्टिक का उपयोग पूरी तरह से मुक्त करने के लिए नगरपालिका शहर में बड़ा अभियान भी चलाएगी। अब तक शासकीय कार्यालय, घरों व सार्वजनिक स्थानों पर बिना रोक-टोक प्लास्टिक का उपयोग हो रहा है। अब ऐसा नहीं हो सकेगा। भारत सरकार ने वर्ष 2022 तक सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग को फेज आउट करने का संकल्प लिया गया है। इसी को लेकर मध्यप्रदेश शासन ने चार जून को आदेश जारी कर दिए है। जिसको लेकर शासकीय कार्यालयों नगरपालिकाओं में प्लास्टिक का उपयोग नहीं होगा। सभी कार्यालयों को सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त घोषित किया गया है। शासन के आदेश कार्यालयों में पहुंच गए है, पालन करवाने के लिए वरिष्ठ अधिकारी भी समीक्षा करेंगे, जिन वस्तुओं के उपयोग पर प्रतिबंध है वे वस्तुएं कार्यालय में नहीं आएगी।
आयोजनों में भी नहीं होगा उपयोग
शासकीय कार्यालयों में होने वाले आयोजनों में अब प्लास्टिक के डिस्पोजल सहित अन्य सामग्री पर भी प्रतिबंध लग गया है। सिंगल यूज प्लास्टिक से शासकीय कार्यालयों को मुक्त करने के आदेश मिलने के बाद अब कार्यालयों में पूर्व की तरह सामगिीयों का उपयोग नहीं हो सकेगा। शासन से जारी आदेश में कहा गया है कि कार्यालयों में होने वाले सार्वजनिक कार्यक्रमों के दौरान डिस्पोजेबिल प्लास्टिक वस्तुएं, प्लास्टिक कैरी बैग्स, फूड पैकेजिंग, प्लास्टिक फ्लावर पार्ट, बैनर, झंडे, पैट बाट्ल्स, कटलरी प्लेट्स, कप, ग्लास, स्ट्रा, फोर्कस, स्पून्स, पाउच/शेसे आदि थर्मोकोल से निर्मित्त सजावट एवं अन्य सामान को प्रतिबंधित किया गया है।
पहले समझाईश फिर कार्रवाई
प्रतिबंध के बाजवूद शहर में पॉलीथीन का उपयोग धड़ल्ले से हो रहा है। नगरपालिका इस संबंध में प्रभावी कार्रवाई नहीं कर रही है, इसके कारण प्रतिबंधित व अवमानक पॉलीथीन का उपयोग शहर के दुकानदार कर रहे हैं। अधिकांश दुकानदार रतलाम, इंदौर, दिल्ली, अहमदाबाद से पॉलीथीन, डिस्पोजेबल आइटम मंगवा रहे हैं। बड़े पैमाने पर वर्तमान में प्रतिबंधित पॉलीथीन का शहर में उपयोग हो रहा है। अब नगरपालिका ने पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने के लिए प्लानिंग की है। नगरपालिका जल्द ही शहर में बड़ा अभियान चलाएगी। इसमें लोगों को पॉलीथीन का उपयोग न करने की समझाईश देने के साथ ही जो दुकानदार पॉलीथीन बेच रहे हैं या उपयोग कर रहे हैं उन पर कार्रवाई होगी।
इनका कहना
शासन के नए निर्देशानुसार नपा अपने किसी भी आयोजन में प्रतिबंधित प्लास्टिक का उपयोग नहीं करती और लोगों को भी उपयोग नहीं करने की समझाईश दी जा रही है। अब शहर में एक बड़ा अभियान चलाएंगे, प्लास्टिक के डिस्पोजेबल सहित अन्य प्रतिबंधित सामग्रीयों का उपयोग न करने की समझाईश दी जाएगी। पॉलीथीन बेचने वाले एवं उपयोग करने वाले दुकानदारों पर कार्रवाई की जा रही है।
-केजी उपाध्याय, स्वास्थ्य अधिकारी, नपा

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account