NEWS :

नपा मंदसौर अध्यक्ष पद रिक्त, जनता परेशान

नपा मंदसौर अध्यक्ष पद रिक्त, जनता परेशान

नपा मंदसौर अध्यक्ष पद रिक्त, जनता परेशान

कांग्रेस नेता अपने बारे में सोचने में व्यस्त-भाटी
मन्दसौर। मन्दसौर नगरपालिका के अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार के गोलीकांड में मृत्यु होने के बाद से अध्यक्ष पद रिक्त पड़ा हुआ है, जिस कारण मंदसौर की जनता की मुलभूत समस्या सुनने वाला कोई नहीं है। निर्माण कार्य बन्द पड़े है, नगर विकास कार्य अवरूद्ध हो चुका है। उक्त बात कांग्रेस पार्षद डिकपालसिंह भाटी ने कही।
भाटी ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि, मंदसौर नगरपालिका का अध्यक्ष पद करीब पांच माह से रिक्त है, जिस वजह से न तो पीआईसी हो रही है, न ही परिषद् की बैठक आहूत की जा सकी है। ऐसे में न तो पुराने स्वीकृत कार्य ठेकेदार द्वारा किये जा रहे है, न ही नए कार्य को लेकर ठेकेदार रूचि दिखा रहे है। अध्यक्ष की नियुक्ति नहीं होने के कारण पीआईसी गठित नहीं की जा सकती और तब तक नागरिकों के नामांतरण नहीं हो सकते। नामांतरण की कई सैकड़ों फाईले लम्बित है जिस वजह से नागरिकों के कई महत्वपूर्ण कार्य नहीं हो पा रहे है। कांग्रेस के सभी पार्षद इस विषय को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ व विभागीय मंत्री जयवर्द्धनसिंह से रूबरू चर्चा कर चुके है। कांग्रेस के सभी पार्षदों द्वारा विगत दिनों जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रकाश रातडिय़ा के समक्ष एक बैठक आहुत की गई, जिसमें सर्वानुमति से यह निर्णय लिय गया कि, कांग्रेस के 17 पार्षदों में से किसी भी एक पार्षद की अध्यक्ष पद पर नियुक्ति शासन द्वारा कर दी जाती है तो सभी पार्षद मनोनित अध्यक्ष के साथ रहकर मंदसौर के आम नागरिकों के हित में कार्य करेंगे व कांग्रेस की रीति नीति से जनता को रूबरू कराएंगे, ऐसा संकल्प पारित कर जिला कांग्रेस अध्यक्ष को पत्र दिया, परन्तु स्थानीय नेता अतिमहत्वाकांक्षा के चलते अध्यक्ष पद पर किसी एक पार्षद की नियुक्ति नहीं होने दे रहे हैं।
नगरपालिका अधिनियम की धारा-37 के तहत अध्यक्ष पद किसी कारणवश रिक्त होता है तो राज्य शासन किसी भी चुने हुए पार्षद को अध्यक्ष पद पर नियुक्त कर सकता है। कांग्रेस के 17 पार्षद है। क्या 17 पार्षदों में से एक भी पार्षद अध्यक्ष पद के लायक नहीं है? कांग्रेस कार्यकर्ताओं में इन्हीं कारणों से नेताओं के प्रति रोष है, जिस कारण एक के बाद एक चुनाव में हार का कारण बनता है।
भाटी ने कहा कि, मंदसौर की जनता के हित के लिये खुद की सरकार के खिलाफ अनिश्चितकाल धरना देना पड़े तो पड़े, लेकिन जनता की हित की लड़ाई हर संभव लड़ता रहुंगा। मुख्यमंत्री से अनुरोध है के जनता के हित को ध्यान में रखते हुए अतिशीघ्र मंदसौर नगरपालिका के अध्यक्ष पद की नियुक्ति की जाए, अन्यथा मुझे धरने पर बैठने हेतु विवश होना पड़ेगा।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account