NEWS :

मैं क्या करूं जाकर मोदीजी से बोल-सांसद गुप्ता

आयुष्मान कार्ड की राशि नहीं मिलने के एक हितग्राही के सवाल पर गुप्ता पर इस तरह का जवाब देने का आरोप, रो-रो दिया हितग्राही, लेकिन नहीं रूके सांसद

पालो रिपोर्टर = मंदसौर


चुनाव आते-आते भाजपा प्रत्याशी सांसद सुधीर गुप्ता लगातार विरोधों से घीरते चले जा रहे हैं। बुधवार को भी बैलारा में उन्हें अपने ही जवाब के चलते विरोध झेलना पड़ा। दरअसल यहां आयुष्मान योजना के हितग्राही एक युवक का आरोप है, कि जब उसने पूछा कि मेरे पिता के उपचार में अब तक 1.40 लाख रूपए खर्च हो चुके हैं, लेकिन आयुष्मान कार्ड योजना से कोई राशि नहीं आई, तो सांसद गुप्ता उसे कोई आश्वासन देने की बजाय उल्टा यह कहकर चल दिए कि मैं क्या करूं जाकर मोदीजी से बोल…। इसके बाद परेशान युवक का दिल भर आया और वह रो-रो दिया, लेकिन गुप्ता यहां ने पलटकर नहीं देखा और सीधे अपनी गाड़ी में बैठकर रवाना हो गए।
बैलारा निवासी भैरूलाल पिता मोहनलाल के अनुसार सांसद सुधीर गुप्ता यहां अपने समर्थन में जनसंपर्क करने पहुंचे थे। वे यहां एक सभा को भी संबोधित कर रहे थे। संबोधन के बाद जब वे ग्रामीणों के बीच थे तब भैरूलाल उनके पास गया और पूछा कि सर मेरे पिता बीमार हैं और उनके ऑपरेशन में अब तक 1 लाख 40 हजार रूपए खर्च हो चुके हैं। मेरे पिता का मोदीजी की योजना के तहत आयुष्मान कार्ड भी बना हुआ है, लेकिन अब तक उस कार्ड से कोई राशि नहीं आ सकी है तो क्या आगे कोई राशि आएगी या नहीं? इस पर गुप्ता ने युवक को दो टूक जवाब दे दिया कि मैं क्या करूं ये बात जाकर मोदीजी से बोल…। इसके बाद युवक ने उन्हें रोककर कहने की कोशिश भी की कि सर हमारे सांसद आप हो आप ही तो हमारी बात मोदीजी तक पहुंचाओगे, लेकिन गुप्ता युवक को अनदेखा कर अपनी कार में बैठकर यहां से रवाना हो गए। इधर, अपने पिता के इलाज के लिए रूपए एकत्र कर-करके जबरदस्त परेशान हो चुके युवक के सब्र का बांध आखिरकार टूट ही गया और उसकी आंखों से अश्रु धारा बह निकली, लेकिन भाजपा प्रत्याशी गुप्ता यहां रूककर युवक को दिलासा दिलाने की बजाय सीधे निकल गए।
महुवा में भी नहीं दे पाए जवाब
इसी तरह की एक और घटना बुधवार को भाजपा प्रत्याशी सुधीर गुप्ता के जनसंपर्क के दौरान ग्राम महूआ में उस वक्त सामने आई, जब गुप्ता यहां जनसम्पर्क कर रहे थे। इसी दौरान एक युवक आया और उसने कहा कि सर मैंने अपने जीवन का पहला वोट आपको दिया था। क्योंकि आपने गांव में खेल मैदान आदि विकास कार्यों का वायदा किया था, लेकिन उनमें से एक भी पूरा नहीं हो पाया…। युवक की इन बातों को सुनकर सांसद गुप्ता कुछ कहने की बजाय सीधे यहां जनता के बीच से निकलकर आगे बढ़ गए। जबकि ग्रामीणों ने पीछे से यह तक कहा कि सांसदजी विकास के मुद्दों पर बात करी तो चुपचाप निकल लिए।
प्रत्यक्षदर्शियों ने की घोर नींदा
ग्राम बैलारा और महुआ में जो घटनाएं घटी उनको लेकर सोशल मीडिया पर तेजी से विडियो वायरल हुए और जिसने भी यह विडियो देखे तरह-तरह की टिप्पणी गुप्ता के संदर्भ में की गई। इसी तरह दोनों घटनाओं के दौरान प्रत्यक्षदर्शियों ने भी सांसद की घोर नींदा की। बता दें कि ये पहली बार नहीं हुआ जब सांसद गुप्ता को विरोध झेलना पड़ा हो इसके पूर्व भी दो-तीन घटनाएं उन्हें टिकिट मिलने के बाद घट चुकी है।
शिर्ष नेतृत्व कर सकता है गुप्ता को तलब
इधर, दोनों घटनाओं को लेकर मंदसौर से लेकर भोपाल और दिल्ली के सियासी गलियारों में भी दिनभर चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। कांग्रेस के छर्रो ने जहां इसके सोशल मीडिया पर भुनाने का पूरा प्रयास किया, वहीं कुछ एसे भाजपाई भी सक्रिय रहे जो पर्दे के पीछे से कहीं न कहीं सांसद गुप्ता के विरोधी हैं। खबरों के अनुसार दोनों घटनाओं के विडियो दिल्ली और भोपाल के आला नेताओं तक के पास वायरल किए गए हैं। एसे में यह भी माना जा रहा है, कि बैलारा वाली घटना को लेकर भाजपा का शिर्ष नेतृत्व सांसद गुप्ता से जवाब-तलब भी कर सकता है।
नटराजन के समक्ष कहा कर्ज माफी धोखा
इधर, कांग्रेस प्रत्याशी मीनाक्षी नटराजन को भी ग्राम बरखेड़ा नायक में प्रदेश सरकार के कर्जमाफी के वायदे को लेकर विरोध झेलना पड़ा। यहां एक किसान नारायणसिंह ने कर्ज माफी को धोखा बताया, तो वहीं एक किसान ने सरल बिल योजना पर अपना विरोध दर्ज किया। हालांकि कर्जमाफी के लिए नटराजन ने अपने संबोधन में यह भी कहा है, कि किसानों की कर्ज माफी रूकी हुई है। उनकी कर्ज माफी आचार संहिता खत्म होते ही हो जाएगी।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account