NEWS :

नेता चरित्रवान होगा तभी जनता का उद्धार होगा-राष्ट्रसंत कमलमुनि

मन्दसौर। ग्राम पंचायत से लेकर विधानसभा, लोकसभा सभी के चुनाव एक साथ करवा दिया जाए तो समय श्रम पैसे की बचत हो सकती है साथ में ही बार-बार आचार संहिता लागू होने पर विकास के काम ठप्प पड़ जाते है। 5 साल में 1 साल तो आचार संहिता में चला जाता है।
उक्त विचार राष्ट्रसंत श्री कमलमुनि कमलेश ने जनकूपुरा जैन स्थानक भवन में धर्मसभा को संबोधित करके हुए कही। आपने कहा कि बार-बार के चुनाव से स्वार्थी नेता अपनी रोटियां सेकने के लिए आपसी रिश्तो में कड़वाहट घोलने से बाज नहीं आते हैं तथा सरकारी खजाने से भी अरबों रुपए स्वाहा हो जाते हैं। यदि उनको ही विकास में लगा दे तो देश का कायाकल्प हो सकता है। राष्ट्र संत ने कहा कि चुनाव में सभी पार्टियां पानी की तरह पैसा बहाती है उसस भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलता है। वर्तमान चुनाव के खर्चे को देखकर चुनाव आयोग आंखें मूंद कर बैठा हुआ है आचार संहिता की खुलेआम धÓिजयां उड़ रही है, परस्पर कीचड़ उछाला जा रहा है। इस पर नियंत्रण लाना अत्यंत जरूरी है।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account