NEWS :

वन माफिया कर रहे करोड़ों की लकड़ी की तस्करी

नीमच। लाला निवासी नकुम मनु निवासी कीरतपुरा बड़ी सादड़ी कालू सुथार निवासी पाटन हाल मुकाम जोगणिया माता एवं सिंगोली का नामचीन जाफर इमाम उर्फ चुन्नू इन दिनों लकड़ी तस्करी के पूरे सिंगरौली क्षेत्र एवं राजस्थान के भीलवाड़ा जिले को अपने तस्करी के लिए उपयुक्त मानकर करोड़ों रुपए की खैर की लकड़ी के अंतर राज्य तस्कर बनकर वन वनविभाग एवं राजस्व विभाग के लिए सर दर्द बने हुए हैं जो अपने दलालों के माध्यम से सिंगरौली क्षेत्र के गांव में घूम घूम कर कौडिय़ों के दाम गरीबों से खैर की लकड़ी खरीद कर पुलिस वन विभाग राजस्व विभाग को कुछ नहीं समझते हुए अपना कारोबार धड़ल्ले से चला रहे हैं।
चारों वन माफिया क्षेत्र की भोली-भाली जनता को यह कहने से भी नहीं चूकते हैं कि हमारे पास खैर की लकड़ी ले जाने का लाइसेंस है हमारा पुलिस वन विभाग राजस्व विभाग कुछ नहीं बिगाड़ सकता है सारी जवाबदारी हमारी है किसी को डरने की जरूरत नहीं और तो और यह खुलेआम कहने से भी नहीं चूकते हैं कि हम लोग 30000 प्रति गाड़ी पुलिस को देते हैं और जब हम मध्य प्रदेश की सीमा से राजस्थान में अपना वाहन लेकर में तो 10000 वाली बात 10000 राजस्थान पुलिस को देख कर अपना कारोबार सुरक्षित रखे हुए हैं, जबकि वन विभाग रतनगढ़ द्वारा खैर की लकड़ी के परिवहन करते हुए दो वाहन जप्त किए हैं, राजस्व विभाग के तहसीलदार सिंगोली द्वारा हाल ही में एक वाहन जप्त कर पुलिस को सौंपा है।
इस सारे खेल के डॉन बने लाला यह प्रचारित करने से भी नहीं चूक रहा है कि मेरा नाम कटाने के लिए 50000 पुलिस को दिए हैं जो पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है तहसीलदार द्वारा पकड़े गए वाहन में 4 लोगों को नामजद किया है एक व्यक्ति आशीष गिरफ्तार हो कर न्यायिक हिरासत में कोर्ट द्वारा जावा जेल में विरुद्ध है बाकी के आरोपियों की गिरफ्तारी शेष है।
सिंगोली पुलिस से प्राप्त माहिती के अनुसार शेष आरोपियों की गिरफ्तारी हो जावेगी आरोपियों से संपूर्ण मामले की निष्पक्ष जांच कर उन्हें दंडित करवाया जाएगा आरोप इतने शातिर है कि वन विभाग पर भी आरोप-प्रत्यारोप लगाने से भी नहीं चूकते हैं पुलिस को चाहिए कि इनकी गिरफ्तारी के पश्चात हिना के संपूर्ण कार्डों की जांच की जानी चाहिए क्योंकि इन्होंने सिंगरौली क्षेत्र से करोड़ो रुपए की तस्करी कर वन विभाग को राजस्व की हानि पहुंचाई है।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account