NEWS :

डॉक्टर राठौर्स क्लीनिक राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित

शत-प्रतिशत मरीजों को ठीक करने के लिए सोसायटी ऑफ साइंटिफिक रिसर्च एंड स्टडी टैलेंट ऑफ हेल्थ केयर चंडीगढ़ ने दिया अवार्ड, यह सम्मान पाने वाला प्रदेश का पहला क्लिनिक बना डॉ राठौर्स क्लिनिक
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

अब मंदसौर जिला शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में भी प्रगति कर रहा है, ऐसा ही एक पुरस्कार जिले के डॉक्टर राठौड़ डेंटल क्लिनिक मल्टीडिसीप्लिनरी एमपी को मिला है। डॉ राठौर मंदसौर के आस-पास के क्षेत्रों में भी डेंटल के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाए हुए हैं, डॉ राठौर का परिवार स्वास्थ्य सेवाओं में अपनी अलग पहचान बना कर रोगियों की सेवा कर रहे हैं। इसके फलस्वरूप सोसायटी ऑफ साइंटिफिक रिसर्च एंड स्टडी टैलेंट ऑफ हेल्थ केयर चंडीगढ़ में डॉ कुणाल राठौर दंपति को सम्मानित किया गया।
इस सम्मान समारोह के मुख्य अतिथि पद्मश्री मिल्खासिंह (भारतीय ओलम्पियन), पद्मश्री परगटसिंह (भारतीय ओलम्पियन), पद्मश्री डॉ शादाब मोहम्मद(डीन केजीएमसी डेंटल कॉलेज लखनउ उप्र), डॉक्टर सतीशकुमार(डायरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विस हरियाणा) ने उन्हें यह पुरस्कार दिया। इस सम्मान को यह क्लिनिक पूरे मध्यप्रदेश का पहला क्लिनिक बन गया है। प्रदेश के तमाम महानगरों की नामी स्वास्थ्य संस्थानों को पीछे छोड़ते हुए मंदसौर के डॉक्टर कुणाल राठौर के क्लीनिक ने बेस्ट प्रतिष्ठित अवार्ड प्राप्त किया जो शहर ही नहीं जिले के लिए गौरव की बात है। इस पुरस्कार के पूर्व में संस्था द्वारा इसके बारे में जानकारी दी गई उसके आधार पर चयन हुआ है। यह संस्था डेंटल क्लिनिक को अवार्ड नहीं देती है, बल्कि बेस्ट प्रोफ़ेसर, बेस्ट एचओडी हेड ऑफ डिपार्टमेंट, बेस्ट गाइड, बेस्ट स्टूडेंट को राष्ट्रीय स्तर का अवार्ड प्रदान किया जाता है। गौरतलब है, कि क्लिनिक का वातावरण और स्टॉफ का है मरीजों के साथ सहायता सेवा की भावना से कार्य करते हैं ,इसी कारण से डॉ राठौर यह राष्ट्रीय अवार्ड प्राप्त करने में सफल रहे है।
राठौर परिवार का अथक परिश्रम
मंदसौर की इस डेंटल क्लिनिक ने ऐसे ही नहीं राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई इसके पीछे राठौर परिवार की अथक मेहनत का परिणाम है इस क्लिनिक में विश्वस्तरीय स्टूमेंट हैं जो कि जिससे कि मरीजों की जांच की जाती है ,और उनके ऑपरेशन किए जाते हैं। यहां पर जो डॉक्टर है फुल टाइम और पार्ट टाइम उनकी डिग्री उनके काम करने का तरीका उनका पेशंट के प्रति लगाव और व्यवहार पेशेंट को आराम देता है।
पांच हजार से अधिक की सेवा
डॉ राठौर को फेसबुक पर और सोशल मीडिया पर इंडियन डेंटल एसोसिएशन के द्वारा लगभग उनके 2500 फ़ॉलोअर्स और 5000 फ्रेंड हैं। विगत 5 वर्षों में लगभग 5000 से भी अधिक बीमारों की उन्होंने सेवा की है और सभी डेटा भी उपलब्ध है। यहां पर 95 फीसदी मरीज ठीक होकर गये और अब अपने सामान्य जीवन जी रहे हैं। 5 फीसदी मरीज ऐसे हैं दवाई से ही आराम हो गया और बीच में ही इलाज छोड़ दिया क्योंकि उन्हें आराम हो गया था। उनका पूरा रिकॉर्ड डाटा यहां पर उपलब्ध हैं।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account