NEWS :

इंटरव्हेल में ही निपटी डंग के धरने की पिक्चर

जिला मुख्यालय से पहले सीतामउ में ही प्रशासन ने कर दिया संतुष्ठ, पुन: सुवासरा लौटे विधायक डंग
पालो रिपोर्टर = मंदसौर/सीतामऊ

किसानों की विभिन्न समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय पर सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग कलेक्ट्रेड में धरने पर बैठने वाले थे, जिसके लिए वे मंगलवार सुबह सुवासरा स्थित अपने निवास से निकले। किंतु रास्ते में ही सीतामउ प्रशासन ने उन्हें रोककर संतुष्ठ कर दिया और इस तरह डंग के धरने की पिक्चर का प्रशासन ने इंटरव्हेल में ही दि एंड कर दिया। बता दें कि वर्तमान में आचार संहिता चल रही है। बावजूद इसके डंग कलेक्ट्रेड में धरना देने चले थे और वह भी अपनी ही सत्ता पक्ष में होते हुए। एसे जागरूक हल्कों में इस घटनाक्रम को डंग का ड्रामा करार भी दिया गया।
बता दें कि डंग किसानों की उपार्जन केंद्र वाली विभिन्न समस्याओं, ओलावृष्टि के मुआवजे में देर दारी सहित विभिन्न मुद्दों पर धरना देने वाले थे। किंतु सीतामऊ तहसील कार्यालय पर ही प्रशासनिक अधिकारियों ने उन्हें रोक लिया और बाद में यहीं पर उपकी तमाम समस्याओं का निराकरण कर उन्हें संतुष्ट किया। 11 बजे के लगभग सीतामऊ तहसील परिसर के सामने नाकाबंदी कर अनुविभागीय अधिकारी अर्पित वर्मा एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी ओपी शर्मा द्वारा डंग को रोक लिया गया। जहां डंग व प्रशासन के बीच बहस हुई। अनुविभागीय अधिकारी अर्पित वर्मा, एसडीओपी ओपी शर्मा, जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी ज्योति जैन, रोहित श्रीवास्तव डीएमओ के द्वारा अनुविभागीय कार्यालय में विधायक डंग के द्वारा बताई गई किसानों की समस्याओ का जल्द निराकरण करने के आश्वासन के बाद डंग ने अपना धरना स्थगित किया। नारकोटिक्स विभाग द्वारा किसानों से रुपये मांगने का मुद्दा उठा-विगत दिनों गाँव लदुना मे प्रकृति के प्रकोप से हुए नुकसान में अफीम नष्टीकरण के लिए किसानों से नारकोटिक्स विभाग द्वारा माँगे गए रुपयो का मामला भी इस दौरान चर्चा में रहा।
प्रशासन का आश्वासन
इस सबंध में विधायक हरदीपसिंह डंग ने कहा कि किसानों की समस्याओं को लेकर धरना देने जा रहे थे लेकिन प्रशासन ने सीतामऊ में रोककर समस्याओ के जल्द निराकरण का आश्वासन दिया है किसानों अपनी उपज खरीदी केंद्र पर ले जाए। फसल का पूरा पैसा किसानों के बचत खाते में आयेगा। सहकारी संस्था आपकी उपज का पैसा कर्ज में नही करेगी। अब किसान बिना एसएमएस के भी अपनी फसल खरीदी केंद्र पर ला सकता है। डंग ने कहा कि अफीम किसानों से पैसे लेने पर सम्बंधित विभाग के कर्मचारियों की जांच कर कार्यवाही की बात भी प्रशासन के अधिकारियों ने कही है।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account