NEWS :

हादसे ने छीन लिया होनहार युवक

बेटे को स्कूल से लेकर लौट रहे सुरेश को डंपर ने मारी टक्कर, सुरेश की मौत, बेटा गंभीर
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

महू-नीमच राजमार्ग स्थित सीतामउ फाटक पुल पर हुए एक दर्दनाक हादसे ने शहर के एक होनहार युवक को छीन लिया। दरअसल हादसे में रॉयल ऑप्टीकल पर कार्यरत सुरेश सोनी अपने बेटे को स्कूल लेकर घर लौट रहा था, कि रास्ते में एक डंपर ने टक्कर मार दी। बाद में उपचार के दौरान सुरेश की मौत हो गई, तो वहीं बेटे की हालत गंभीर बताई जा रही है।
शहर पुलिस के अनुसार हादसा दोपहर करीब डेड़ बजे का है, जब सुरेश पिता देवानंद सोनी 38 साल निवासी अभिनंदन कॉलेनी सेंट थॉमस में अध्ययनरत् अपने बेटे राजेश 14 साल को स्कूल से लेकर बाइक एमपी 14 एमई 9382 पर घर आ रहा था। अभी दोनों पिता-पुत्र सीतामउ फाटक स्थित पुल पर पहुंचे थे, कि सामने से अंधगति से आ रहे डंपर एमपी 14 एचए 0149 का चालक ने उन्हेें अपनी चपैट में ले लिया। हादसे के बाद डंपर चालक मौके पर वाहन छोड़कर फरार हो गया, तो वहीं गंभीर घायल अवस्था में सड़क पर पड़े सुरेश व उसके बेटे राजेश को जिला अस्पताल लाया गया। यहां से सुरेश को उदयपुर रैफर किया। एम्ब्यूलेंस द्वारा उसे उदयपुर ले जाया जा रहा था, कि नीमच में तबियत अधिक बिगडऩे पर वहीं अस्पताल ले जाया गया, जहां सुरेश ने दम तोड़ दिया। मामले में कोतवाली पुलिस ने डंपर चालक पर केस दर्ज कर उसकी तलाश प्रारंभ कर दी है।
मिलनसार और हसमुख था सुरेश
बता दें कि सुरेश काफी हसमुख और मिलनसार स्वभाव का युवक था, जो बरसों से ऑप्टीकल्स के मामले में शहर की नामी फर्म रॉयल ऑप्टीकल को संचालित करने में वासुदेव खेमानी के मार्गदर्शन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा था और चश्मे के मामले में अपने हुनर का मंझा हुआ खिलाड़ी था। खेमानी सुरेश को पारिवारिक सदस्य मानते थे। जैसे ही सुरेश की मौत की खबर सिंधी समाज व उसके स्नेहियों में फैली सभी दूर शोक की लहर छा गई।
एम्ब्यूलेंस चालक ने की लापरवाही
इधर, सूत्र बता रहे हैं, कि जिस एम्ब्यूलेंस में सुरेश को उदयपुर ले जाया जा रहा था। वही एम्ब्यूलेंस चालक नीमच अस्पताल में सुरेश को परिजनों के साथ छोड़कर वहां से निकल गया। जबकि सुरेश की मौत हो चुकी थी और बाद में परिजनों को सुरेश की डेड बॉडी लाने के लिए एम्ब्यूलेंस के लिए भटकना पड़ा।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account