NEWS :

इस बार मंदसौर लिखेगा ‘बर्थ-डे बॉयÓ की किस्मत

जन्मदिन पर ईवीएम में कैद होगा भाजपा प्रत्याशी सुधीर गुप्ता का भाग्य
पांच साल में अब तक दो बर्थ-डे हो चुके हैं खराब, छटें का फैसला जनता के हाथ में
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

सांसद बनने के बाद से ही भाजपा प्रत्याशी सुधीर गुप्ता की अपने ही जन्मदिन से संयोगवश एसी न जाने क्या बेरूखी चल रही है, कि इन पांच सालों में बिते 5 में से दो जन्मदिन भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के स्वर्गवास के चलते विवादों का शिकार हो गए, तो वहीं अब छटां जन्मदिन भी उसी दिन आ रहा है, जिस दिन उनके लोस चुनाव का मतदान होना है। अब देखना यह है, कि इस बार मंदसौर संसदीय क्षेत्र की जनता बर्थ-डे बॉय गुप्ता की किस्मत में क्या लिखती है।
19 मई को भाजपा प्रत्याशी सुधीर गुप्ता का जन्मदिन है और संयोगवश इसी दिन आम चुनाव भी मंदसौर में होना है। लिहाजा इस बार भी गुप्ता व गुप्ता के चहेते जन्मदिन मनाने की बजाय अधिक से अधिक मतदान करवाने की उधड़ भून में नजर आएंगे। गौरतलब है, कि संयोगवश 2014 में सांसद बनने के बाद से ही सुधीर गुप्ता का जन्मदिन लगभग सुर्खियों में ही रहा है और इस बार भी सुर्खियों में ही रहने वाला है। साल 2014 में जब वे सांसद बने तो कुछ ही दिन में उनका जन्मदिन सामने आ गया, जिसे वे ठीक से मना नहीं पाए। क्योंकि नए नवेले सांसद बनने की जिम्मेदारी उन पर आ गई थी, जिसे वे समझने में लगे हुए थे। इसके बाद 2015 में जन्मदिन धुमधाम से मनाया गया, जिसमें अनूप जालोटा की भजन संध्या भी आयोजित हुई, लेकिन साल 2016 में फिर जन्मदिन के दि नही वरिष्ठ पूर्व एवं सांसद डॉ लक्ष्मीनारायण पांडेय के स्वर्गवास की खबर आई और गुप्ताजी के जन्मदिन की सारी तैयारियां धरी की धरी रह गई। इसके ठीक एक साल बाद फिर से कार्यकर्ताओं ने जन्मदिन की पूरी तैयारियां की। किंतु इस साल जन्मदिन के एक दिन पूर्व 18 मई 2017 को वरिष्ठ भाजपा नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री अनिल माधव दवे का निधन हो गया। हालांकि सूत्रों पर भरोसा करें तो बावजूद इसके कार्यकर्ताओं ने सांसद का जन्मदिन मनाया जो विवादों में रहा। अगले साल 2018 में गनीमत रही और 19 मई या इसके आसपास कोई अप्रिय घटना नहीं घटी और सांसद अपना जन्मदिन ठीक से मना पाए, लेकिन अब एक बार फिर साल 2019 में उनका जन्मदिन एसे दिन तय हुआ है जिस दिन उनका भविष्य ईवीएम में कैद होना है। अब यह वक्त ही बताएगा कि इस जन्मदिन पर क्षेत्र की जनता गुप्ता को जन्मदिन में जीत का तोहफा देती है या हार का श्रीफल देकर घर वापसी करवाती है।

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account