NEWS :

साहब जेल में मुलाकात के रूपए मांगते हैं…!

एक कैदी के परिजन ने जिला निर्वाचन अधिकारी से की शिकायत, वे एसपी सहित गए थे जिला जेल के निरीक्षण पर
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

साहेब हम लोग यहां बंद अपने कैदी परिजन से मिलने आते हैं तो पुलिस वाले हम से रूपए वसूलते हैं। पहले शुरूआत में हजार रूपए लेते थे, फिर 500 किए, फिर 200 और अब 100 रूपए वसूल रहे हैं…। यह बात जिला जेल के गेट पर एक कैदी के परिजन ने यहां चुनाव के चलते निरीक्षण पर आए जिला निर्वाचन अधिकारी धनराजू एस के सामने कही। बड़ी बात यह है, कि खुलकर किसी के द्वारा शिकायत होने के बावजूद जिला निर्वाचन अधिकारी ने कोई खास प्रतिक्रिया नहीं दिखाई। इस दौरान एसपी विवेक अग्रवाल भी मौजूद रहे। जबकि निरीक्षण के दौरान सीसीटीवी कैमरे लगाने के भी निर्देश दिए।
चुनाव आयोग के निर्देशानुसार आगामी लोकसभा चुनाव को देखते हुए जिला निर्वाचन अधिकारी धनराजू एस व एसपी विवेक अग्रवाल शुक्रवार सुबह महू-नीमच राजमार्ग स्थित जिला जेल में निरीक्षण हेतु पहुंचे। जिला जेल में हर बात की एक तय किमत है चाहे फिर कैदियों को उनके परिजनों से मिलना हो या किसी अन्य तरह की अतिरिक्त सुविधाएं चाहिए। खैर मूलभूत के अतिरिक्त अन्य सुविधाएं जेल में कैदियों तक पहुंचाना तो गलत ही है, लेकिन कैदियों को उनके परिजनों से मिलने देने के लिए भी रूपए वसूलना ये अन्याय भी यहां उपजेल के समय से चला आ रहा है। एसी ही एक शिकायत जेल के निरीक्षण पर पहुंचे जिला निर्वाचन अधिकारी धनराजू एस के समक्ष एक कैदी के परिजन ने की। बावजूद इसके जिला उम्मीद से उस परिजन ने शिकायत की थी उस उम्मीद के अनुसार रत्तीभर भी जिला निर्वाचन अधिकारी की कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई। वे बस यही कहते रहे दिखवाते हैं…. हम्म्म्म्म्…, दिखवाते हैं… हम्म्म्म्म्…।
कोई अवैध गतिविधि नहीं दिखी
एसपी विवेक अग्रवाल के साथ जिला निर्वाचन अधिकारी धनराजू एस ने सभी बैरेक चेक किए, मूलभूत सुविधाओं आदि का निरीक्षण करने के साथ ही विशेषकर इस तरह के पदार्थों या गतिविधियों की जांच की जो चुनाव को प्रभावित कर सकती है। हालांकि इस दौरान एसी कोई गतिविधि या पदार्थ अधिकारीद्वय को जेल में नहीं मिला। जेल निरीक्षण के दौरान सीसीटीवी कैमरे की कमी अधिकारीद्वय ने मेहसूस की, जिसके लिए उनने जेल प्रशासन को ताकिद किया। करीब दो घंटे चले इस निरीक्षण के दौरान अधिकारीद्वय ने कैदियों से भी बात-चीत की। हालांकि किसी कैदी द्वारा किसी शिकायत की बात सामने नहीं आई।
क्या कहते हैं संबंधित
चुनाव आयोग के निर्देश होते हैं उसी निर्देश की परिपालना में हम जिला जेल निरीक्षण पर गए थे। कैदी के परिजन ने शिकायत की। हम निरीक्षण का हर पहलू आयोग के सामने रखेंगे। निरीक्षण के दौरान जानकारियां ली गई कि ऐसी कोई गतिविधि तो जेल में नहीं चल रही जिससे चुनाव प्रभावित हो। -धनराजू एस, जिला निर्वाचन अधिकारी
जेल निरीक्षण किया गया ताकि वहां पता किया जा सके कि एसा कोई पदार्थ या गतिविधि तो नहीं जो चुनाव को प्रभावित कर सके। हमें वहां एसा कुछ नहीं दिखा। बस सीसीटीवी कैमरों की कमी दिखी जो जेल प्रशासन को कह दिया है। इसी तरह पूरा निरीक्षण हम ने ऑन रिकॉर्ड लिख लिया है, जिसे निर्वाचन आयोग को प्रेषित किया जाएगा।
-विवेक अग्रवाल, एसपी

patallok

Related Posts

leave a comment

Create Account



Log In Your Account