NEWS :

आचार संहिता में होगी सरकारी दुकानों की नीलामी…!

सुवासरा नगर परिषद् की एक और कारस्तानी, जबकि दुकानें भी है आधी-अधुरी
पालो रिपोर्टर = मंदसौर

जिले की सुवासरा नगर परिषद् के कारिंदे अक्सर अपनी कारस्तानियों से जिले में सुर्खियां बटोरते हैं। एसी ही एक और कारस्तानी उस वक्त उजागर हुई जब नगरवासियों ने सीएमओ द्वारा करवाए गए एक एलान को सुना। दरअसल इस एलान में कहा गया कि 13 मार्च को सरकारी अस्पताल के सामने नपा की नव निर्मित दुकानों की नीलामी की जाएगी, जिसके लिए बंद लिफाफे में शाम 4 बजे तक आवेदन किया जा सकता है। इस एलान को सुनते ही बुद्धिजीवी वर्ग के ज़हन में सबसे पहला प्रश्न तो यह आया कि अभी तो दुकाने पूरी तरह बनी भी नहीं है और नीलाम? खैर सुवासरा नप में कुछ भी संभव है, लेकिन इससे बड़ी बात यह है, कि नीलामी आचार संहिता में की जा रही है। अब देखने योग्य होगा कि निर्वाचन आयोग की नींद खुलती है या नहीं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सुवासरा में मंगलवार पिछले कुछ माह से नगर के बेशकिमती क्षेत्र सरकारी अस्पताल के सामने नगर परिषद् 12 दुकानों का निर्माण करवा रही है। निर्माण प्रारंभ होने से ही नगर के कई रइसों की गिद्ध नजर इन दुकानों पर थी। अभी दुकानों की छत डलना बाकी है और शटर भी लगना बाकी है। इसके पहले ही लोस चुनाव की आचार संहिता लगने से जिन धनाड्यों को ये दुकानें लेने की ललक थी उनमे थोड़ी हताशा छा गई, कि अब दुकानों के लिए आचार संहिता खत्म होने का इंतजार करना होगा, लेकिन मंगलवार को नगर में नप द्वारा करवाए गए एक एलान ने नगर रइसों को खुश कर दिया। दरअसल ये इन आधी-अधुरी दुकानों की नीलामी का था। दुकानों की नीलामी के लिए नप द्वारा बंद लिफाफे में आवेदन मंगवाए जा रहे हैं व 50 हजार रूपए एडवांस रखवाए जा रहे हैं। 13 मार्च की शाम प्रत्येक दुकान की नीलामी 6 लाख 68 हजार से प्रारंभ होना है। जबकि जिलेभर में आचार संहिता लागू हैं और खुद प्रशासनिक मशीनरी ही बतौर चुनाव आयोग धारा 144 का पाठ लोगों को पढ़ा रही है। बावजूद इसके इसी मशीनरी का अंग सुवासर नगर परिषद आचार संहिता में सरकारी संपत्ति नीलाम कर आम मतदाता को लाभ पहुंचाने का काम कर रही है। इधर, मामले में नप सीएमओ मिलन पटेल से उनके मोबाइल नंबर 8839883869 पर मंगलवार रात 9.35 पर दो बार कॉल किया गया, लेकिन बार-बार उनका मोबाइल व्यस्त ही आता रहा। मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी धनराजू एस के मोबाइल 7587969400 पर भी रात 9.43 बजे कॉल करने का प्रयास किया गया, लेकिन उनका नंबर आउट ऑफ नेटवर्क एरिया बताता रहा। इसी तरह उनके कहे अनुसार उनके इसी नंबर पर मामला व्हाट्सएप भी किया गया, लेकिन उनका कोई रिप्लाय समाचार लिखे जाने तक नहीं आया था।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account