NEWS :

अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर आयेाजन

मंदसौर। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मंदसौर द्वारा राष्ट्रीय कार्ययोजना के अनुक्रम में जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष तारकेश्वर सिंह के मार्गदर्शन में 8 मार्च को वैकल्पिक विवाद समाधान केन्द्र, (ए.डी.आर. भवन) जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, मंदसौर में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर परिचर्चा का आयोजन किया गया।
उक्त कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि मालती सिंह, निशा गुप्ता, द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश मंदसौर द्वारा माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम में जिला एवं सत्र न्यायाधीश/अध्यक्ष तारकेश्वर सिंह द्वारा बताया कि समाज की संरचना में नारी का स्थान सर्वोपरि है एवं परिवार के विकास में उसकी महती भूमिका है। वर्तमान में जीवन का कोई भी ऐसा क्षेत्र नही है जिसमें महिलाओं ने पहुंच न दिखाई हो।
द्वितीय अपर जिला न्यायाधीश निशा गुप्ता द्वारा महिलाओं के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि नारी केवल नारी शब्द न होकर देवी का एक रूप है जिसमें परिवार को संजोकर रखने की क्षमता होती है। व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-2 परिधी उईके द्वारा परिवार से लेकर समाज में महिलाओं की महत्वपूर्ण भूमिका का वर्णन किया।
पैरालीगल वालेंटियर्स हंसा रामावत में वर्तमान में महिलाओं की घरेलु स्थिति पर प्रकाश डाला। सामाजिक कार्यकर्ता पुष्पलता चण्डालिया द्वारा प्रत्येक वर्ष अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने के कारण को स्पष्ट किया। अधिवक्ता पुष्पा खाबिया द्वारा महिला को दुर्गा, लक्ष्मी के रूप में पूज्यनीय बताया। प्रो. डॉ. उषा अग्रवाल द्वारा पॉवर पाईट प्रजेंटेशन द्वारा देश की वर्तमान में नारी की निरंतर स्थिति का वर्णन विभिन्न उदाहरणों के माध्यम से किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ चंदा कोठारी द्वारा किया गया एवं आभार व्यवहार न्यायाधीश परिधी उईके द्वारा प्रकट किया गया।

patallok

leave a comment

Create Account



Log In Your Account